ऐसा क्या लालच मिला उस 13 साल के अफगानी लड़के को कि उसने बॉडी पर बाँध लिया बम और फट गया जा कर बारात में ?


आतंकवाद का एक रूप ये भी है और वो किसी का सगा नहीं है .. ये वो सांप है जो हर किसी को डस लेता है भले ही सामने वाले ने उस सांप को कितना भी दूध पिलाया रहा हो .. कभी आधुनिकता के दौर में गिना जाने वाला अफगानिस्तान तालिबान की दस्तक के बाद जिस रूप में आया है उसको आज दुनिया करीब से देख रही है .. ये जकड़ गया है उन कट्टरपन्थियो से जिनके हिसाब से दुनिया में जो उनके अनुसार नहीं चल रहा वो गलत है और उसको मौत देना उचित और जरूरी है ..

उसी मतान्धता में एक बार फिर से मोहरा और हथियार बना डाला गया एक 13 साल के बच्चे को जिसको न जाने मौत के बाद ऐसे कौन से सपने दिखा दिए गये कि उसने अपने शरीर पर बम बाँध लिया और जा कर फट गया एक निकाह में जहाँ दूल्हा और दुल्हन अपने नई जिन्दगी की शुरुआत की तैयारी कर रहे थे .. इस आतंकी हमले के बाद बारात में रंग और फूल के बजाय खून फ़ैल गया और जिसे जिधर भी जगह मिली वो उधर ही अपनी जान बचाने के लिए भागने लगा . तब चेहरों पर ख़ुशी नहीं बल्कि मौत का खौफ था ..

ये घटना इस्लामिक मुल्क अफगानिस्तान की है और क्षेत्र था  घटना पूर्वी नंगरहार प्रांत. पुलिस अधिकारी फायेज मोहम्मद बाबरखील ने बताया कि हमलावर ने सरकार समर्थक कमांडर के आगम जिले स्थित घर में विसफोटकों को शुक्रवार सुबह सेट किया था। नंगरहार प्रांत के गवर्नर के प्रवक्ता अताउल्लाह खोगयानी ने कहा कि 40 घायल लोगों को अस्पताल ले जाया गया है। मरने वाले लोगों का आंकड़ा और बढ़ सकता है।  स्थानीय लोगों ने न्यूज एजेंसी रॉयटर्स से कहा है कि धमाके में कम से कम 10 लोगों की मौत हुई है।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...