भयानक बारिश से बंगलादेश के कैम्प में मरे 10 रोहिंग्या . कई घायल

इसी बंगलादेश ने अन्तराष्ट्रीय जगत से रोहिग्या को अपने देश में रखने के नाम पर भारी मदद ली है, खाड़ी जगत से ले कर संयुक्त राष्ट्र में अपना नाम करने वाले बंगलादेश से ही इन रोहिंग्या की कई पोज में फोटो वायरल करवाई गई थी जिसके बाद न सिर्फ इस्लामिक जगत में बल्कि सेकुलर देशो में भी इन रोहिग्या के लिए मदद उमड़ पड़ी थी.. अब मिली मदद में बंगलादेश ने क्या दिया उन रोहिग्याओ को ये जरा सी बरसात में सबके सामने आ गया है .

विदित हो कि भारी बारिश के चलते उपजी अव्यवस्था और भूस्खलन से बंगलादेश में लगभग 1 दर्जन रोहिंग्या के मारे जाने की खबर है और कई अन्य घायल भी हुए हैं . बांग्लादेश के दक्षिण पूर्व इलाके में स्थित कॉक्स बाजार में भारी मानसूनी बारिश तथा इसके कारण हुए भूस्खलन से अब तक 50 हजार रोहिंग्या शरणार्थी प्रभावित हुए हैं तथा झोपड़ीनुमा 5000 आश्रय-स्थल ध्वस्त हो गये जबकि इसके कारण अब तक कम से कम 10 लोगों की मौत हो चुकी है।

अपने आंकलन में इन मामलो पर लगातार नजर रखे हुए संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि पांच स्कूल बुरी तरह तथा 750 से अधिक शिक्षण केंद्र आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गये तथा इससे करीब 60,000 बच्चों की स्कूली शिक्षा बाधित हुई है। विस्थापित शरणार्थियों ने कहा कि वह बारिश से पीड़ित हैं क्योंकि इससे रसद और दैनिक गतिविधि के सामान शिविरों तक पहुंचने में बाधा उत्पन्न हो रही है।एक रोहिंग्या शरणार्थी नूरुन जान ने स्थानीय समाचार एजेंसी से कहा है कि मिटटी मिट्टी के दलदल से होकर भोजन वितरण केंद्रों पर जाना कठिन है।

Share This Post