रक्त से फिर नहाया अमेरिका.. मैनहट्टन में ट्रक ने बच्चों तक को रौंदा , 10 मरे कई घायल .. सड़कों पर चिपकी मासूमों की लाशें


शांति का मुखौटा पहन कर अभी वो आतंक कितनी जाने लेगा ये नही पता फिर भी एक बार फिर अमेरिका चीख उठा है आतंक के वार से .. रोहिंग्या की तस्वीरें एडिट कर के दिखाने वालों को वहां पड़ी स्कूली बच्चों की लाशें नही दिखी जो शायद रोहिंग्या जैसी विचारधारा वालों की ही देन है .. ना सिर्फ उन स्कूली बच्चों बल्कि तमाम लोगों की लाशें सड़क पर चिपक सी गयी हैं ..

विदित हो कि अमेरिका के न्यूयॉर्क के मैनहट्टन में एक ट्रक ड्राइवर ने साइकिल ट्रैक पर मौजूद लोगों को रौंद डाला। इस वारदात में अब तक लगभग 10 लोगों की मौत की खबर है साथ ही इसमे 15 लोगों के घायल होने की बात सामने आ रही है। इस घटना को अंजाम देने वाले ड्राइवर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, वो ड्राईवर और अधिक खूूून बहाने की तैयारी से था ये तब खुुला जब पुलिस ने उसके पास से दो बंदूक बरामद हुई है। जानकारी के मुताबिक मरने वालों में 3 स्कूली बच्चे भी शामिल हैं। इस घटना के बारे में जानकारी देते हुए न्यूयॉर्क के मेयर ने इसे आतंकी हमला करार दिया है।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने भी इस हमले की आलोचना करते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि ‘न्यूयॉर्क में एक बीमार आदमी ने हमला किया, सुरक्षा एजेंसियां इस पर करीब से नजरें बनाए हुए है।’ ट्रंप ने ट्वीट किया, ‘मीडिल ईस्ट में हराने के बाद हम आईएसआईएस को फिर से अमेरिकी में घुसने नहीं देंगे, अब बहुत हुआ।’ 

इस घटना ने सभ्य समाज को झकझोर सा दिया है और ये सोचने पर मजबूर कर दिया है कि वो कौन सा मज़हब है जिसकी विचारधारा में केवल और केवल खून की इबादत होती है ।।वो कौन सी सोच है जो उनसे ऐसा करवा रही है और वो कौन सा ऐसा तंत्र है जो इस कत्लेआम को समर्थन दे रहा है खुद को बुद्धिजीवी का बिल्ला लगा कर ।।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share