ISIS ने ली लंदन में ब्रिटिश संसद पर आतंकी हमले की जिम्मेदारी, आठ लोग गिरफ्तार

लंदन : ब्रिटेन की राजधानी लंदन में संसद परिसर के बाहर हुए आतंकी हमले में बाद सुरक्षा बलों ने बर्मिंगम शहर में छापेमारी मार कर आठ लोगों को गिरफ्तार किया है। इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन आईएसआईएस ने ली है। आतंकी संगठन ने दावा किया है कि ‘खलीफा के सिपाही’ ने ब्रिटिश संसद पर हमले को अंजाम दिया।

ब्रिटेन की पीएम थेरेसा मे ने कहा कि हमलावर का जन्म ब्रिटेन में हुआ था। कुछ वर्ष पहले उस शख्स का झुकाव आतंकवाद की तरफ था। बता दें कि इस आंतकी हमले में पांच लोगों की मौत हो गई और 40 लोग घायल हो गए। आतंकवाद निरोधी प्रमुख मार्क रॉले ने कहा कि पीड़ित अलग-अलग देशों से हैं। उन्होंने कहा कि घायलों में सात लोग अब भी हॉस्पिटल में हैं और उनकी हालत नाजुक बनी हुई है।

इसके आगे उन्होंने बताया कि सुरक्षा बलों ने दुकानों की एक क़तार के ऊपर दूसरी मंजिल के एक फ्लैट में धावा बोला था। जिसके बाद इस लोगों को गिरफ्तार किया गया। इस छापेमारी का संबंध लंदन में हुए आतंकी हमले से हैं। बता दें कि हमले के बाद सुरक्षाबलों ने इमारत को बंद कर दिया गया है और एक आतंकी को भी मार गिराया है। बताया जा रहा है कि जिस समय संसद के बाहर हमला हा उस समय संसद की कार्यवाही चल रही थी, जिसे स्थगित कर दिया गया।

राजनेताओं, पत्रकारों और आगंतुकों को लगभग पाँच घंटे तक संसद से बाहर नहीं जाने दिया गया। संसद से लेकर पास की वेस्टमिंस्टर ऐबे चर्च से सैकड़ों लोगों को सुरक्षित दूसरी जगहों पर ले जाया गया। हमले के बाद वेस्टमिंस्टर अंडरग्राउंड स्टेशन को भी बंद कर दिया गया है। लंदन के मेयर ने कहा कि आनेवाले कुछ दिनों में लंदन की सड़कों पर हथियारबंद और बिना हथियार वाले पुलिसकर्मियों की गश्त बढ़ा दी जाएगी। बुधवार को एक ने संसद के पास टेम्स नदी पर बने पुल वेस्टिमिंस्टर ब्रिज पर तेजी से कार दौड़ा दी और लोगों को कुचल दिया।

इस हादसे में कम-से-कम दो लोगों की मौत हो गई और कई घायल हो गए। इसके बाद यह कार संसद के बाहर की रेलिंग से जा भिड़ी। इसके बाद हमलावर ने चाकू लेकर संसद परिसर में घुसने कोशिश की तो एक पुलिसकर्मी ने उसे रोका। हमलावर ने उसे भी चाकू मार दिया जिससे उस पुलिसकर्मी की मौत हो गई। उस पुलिसकर्मी के पास कोई हथियार नहीं था। इसके बाद दूसरे पुलिसकर्मियों ने उस हमलावर को गोली मार दी।

ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने कहा कि उनका देश ऐसे हमलों से डरने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि आतंक के आगे ब्रिटेन कभी नहीं झुकेगा। हमले के बाद हुई आपात बैठक के बाद दिए अपने बयान में उन्होंने कहा कि ये (लंदन) महान शहर रोज की तरह जागेगा। लंदन के लोग हमेशा की तरह बस और ट्रेनों में सफर करेंगे। प्रधानमंत्री मे ने हमले में मारे गए लोगों के परिवारवालों के लिए प्रार्थना की और पुलिस व इमरजेंसी सर्विस को श्रद्धांजलि दी।

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर ट्वीट कर इस हमले की निंदा की है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि वह इस हमले से बेहद दुखी है। हमले के शिकार लोगों के लिए संवेदना जताते हुए उन्होंने कहा कि हम उनके व उनके परिवार के लिए प्रार्थना कर रहे हैं। इस मुश्किल घड़ी में आतंक के खिलाफ लड़ाई में भारत ब्रिटिश सरकार के साथ खड़ा है। विदेशमंत्री सुषमा स्वराज ने भी कहा कि इस हमले में किसी भारतीय के हताहत होने की सूचना नहीं मिली है। मैं लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग के लगातार संपर्क में हूं।

Share This Post