इन दुधमुहे बच्चो को नहीं पता कि जल्द ही उनकी माताओ को मिलने वाली है मौत, क्योकि उनकी माताएं थीं आतंकी

ये सभी अपने अपने देशो में सुख और चैन के साथ जी रही थी ऐसा उनके देश को लगता था लेकिन इनके अंदर जल रही थी एक आग जो जलाने को बेताब थी कई देश और उन सभी को जो नहीं मतलब रखते थे उनके मत या मज़हब से .. आतंकियों को मौत देने पर हर हाल में आमादा इराक 300 आतंकियों को जल्द से जल्द मृत्युदंड देने पर अटल है जिसमे ३०० वो महिला आतंकी भी हैं जो विधिवत बाल बच्चेदार हैं .

ज्ञात हो की ये सभी महिला आतंकी मज़हबी कट्टरपंथ के चलते इराक युद्ध में अपने देशो से चोरी छिपे आ गयी और दुर्दांत आतंकियों को हर प्रकार कोई सेवा में खुद को हाजिर कर डाला . यहाँ तक की इन्होने अपनी इच्छा से आतंकियों के साथ शारीरिक संबंध बना कर बच्चे पैदा किये ये सोच कर की वो आगे चल कर आतंकी बनेगे .. अब वो सभी इराकी सेना के कब्ज़े में हैं और उन्हें मिला है मृत्युदंड जो जल्द ही उनके गले में फांसी के फंदे के रूप में दिख जाएगा . 

इराक की फ़ौज को खुली छूट मिली है आतंकियों के दमन की .. मौत की सज़ा पाई ये सभी महिलायें उस समय बहुत खुश होती थी जब कोई आतंकी किसी निरीह के गले को वीडियो बनाते हुए काट देता था .. उस समय इन्ही वीडियो आदि से प्रभावित हो कर मानव के शरीर में छिपे राक्षसों की ये करतूतें देख कर ये महिला आतंकी इराक भाग आई थी और उन्होंने इन जल्लादो को खुद से ही सौंप दिया .. इन्हे बताया गया था की उनका कार्य बहुत नेक है और इस से उन्हें पुण्य मिलेगा .. फिलहाल इनकी मौत के बाद इनके बच्चो का क्या होगा ये अभी अधर में हैं लेकिन इराक की सरकार अपने फैसले पर पूरी तरह से अटल है . 



 

 


 

 

Share This Post

Leave a Reply