धू धू करके जल रहा इस्लामिक मुल्क अफगानिस्तान… 5 दिन में 200 से ज्यादा फ़ौजी हुए क़त्ल

इस्लामिक मुल्क अफगानिस्तान आतंक की आग में धू धूकर जल रहा है तथा खुद इस्लामिक आतंकी ही इस्लामिक मुल्क अफगानिस्तान में कत्लेआम मचा रहे हैं. अफगानिस्तान के गजनी प्रांत में पिछले पांच दिनों से इस्लामिक आतंकी दल तालिबान का कहर जारी है तथा इन पांच  दिनों में 200 से ज्यादा अफगानी सैनिकों की मौत हो चुकी है. अफगानिस्तान में इस्लामिक आतंकी दल तालिबान का अफगानी सुरक्षा बलों को खिलाफ यह अब तक का सबसे खतरनाक कहर माना जा रहा है.

गजनी प्रांत में पिछले सप्ताह चार अलग-अलग स्थानों पर आतंकियों ने अटैक करना शुरू किया, जिसके बाद संघर्ष थमने का नाम नही ले रहा है. संघर्ष के पांचवें दिन तालिबान ने 17 और जवानों को मार दिया है. तालिबान का दावा है कि अफगान फोर्स के दर्जनों सैनिकों ने सरेंडर कर दिया है, तो वहीं कई सुरक्षाबलों को बंधन बना लिया गया है. स्थानीय प्रांतीय परिषद के अध्यक्ष मोहम्मद ताहिर रहमानी ने कहा कि तालिबान ने सोमवार रात को अटैक करने से पहले 140 अफगान सैनिकों को घेर लिया था. तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने हमले की जिम्मेदारी लेते हुए कहा कि 57 अफगान सैनिक तालिबान के सामने आत्मसमर्पण कर चुके हैं, जबकि 17 अन्य लोगों को युद्ध के दौरान बंधक बना लिया गया है.

उन्होंने कहा कि आठ सैन्य हमवी (सैन्य ट्रक) भी जब्त कर लिए हैं. इस बीच, अफगान सुरक्षा बलों ने मंगलवार को कहा है कि उन्होंने गजनी से तालिबान को निकाल दिया है. गजनी प्रांत पर अटैक के बाद सैकड़ों लोग अपना घर छोड़कर भाग चुके हैं, जबकि 20 नागरिकों की भी मौत हो चुकी है. गजनी में युद्ध के दौरान तालिबान ने ना सिर्फ सरकारी इमारतों को आग के हवाले कर दिया, बल्कि टेलिफोन टॉवर और लैंडलाइन कनेक्शन को भी काट लिया है. तालिबान का कहर इस कदर जारी है कि अफगानी सैनिकों की मदद के लिए अमेरिका ने अपनी सेना भेजी है ताकि गजनी प्रान्त से तालिबान को खदेड़ा जा सके.

Share This Post