तालिबान ने गिराई 20 लाशें पाकिस्तान में.. बोला- “अब तो ट्रेलर था, पिक्चर अभी बाकी है”

पाकिस्तान ने जिन आतंकियों को हिन्दुस्तान में तबाही मचाने के लिए पाला था आज वो आतंकी खुद पाकिस्तान के लिए नासूर बन रहे हैं तथा पाकिस्तान को ही लहूलुहान कर रहे हैं. इस बार इस्लामिक आतंकियों का निशाना बना पाकिस्तान का पेशावर शहर जो अचानक से बम धमाकों से दहल उठा तथा इसके बाद वहां गिरी 20 पाकिस्तानियों की लाशें. बम धमाके में 20 पाकिस्तानियों को मौत के घाट उतारने के बाद हमले के जिम्मेदार इस्लामिक आतंकी दल तालिबान ने चेतावनी जारी की तथा कहा कि पेशावर हमला तो एक ट्रेलर मात्र है, इसके आगे की पूरी पिक्चर तो बाकी है.पाकिस्तान की आवामी नेशनल पार्टी (ANP) की चुनावी रैली

आपको बता दें कि ये हमला पाकिस्तान की आवामी नेशनल पार्टी (ANP) की चुनावी रैली में हुआ है. पाकिस्तान की आवामी नेशनल पार्टी की चुनावी रैली में बुधवार को हुए इस भयानक आत्मघाती हमले में 60 ज्यादा लोग भी बुरी तरह से जख्मी हुए हैं. इस हमले की जिम्मेदारी तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (TTP) ने ली है. पाकिस्तान में सक्रिया तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान आतंकी संगठन ने पेशावर आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी लेते हुए कहा है कि ये तो एक शुरुआत है, अभी बहुत कुछ बाकी है. इस हमले में आवामी नेशनल पार्टी के नेता हारून बिलौर की भी मौत हुई है, जो पेशावर के पीके-78 संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ने वाले थे. उनके साथ इस हमले में ANP के 13 अन्य समर्थकों की मौत हुई है. हमले में कुल 20 लोगों कि मौत की बात सामने आयी है.बताए दें कि इससे पहले 2012 में ANP नेता बशीर अहमद बिलौर का बेटा भी आतंकी हमलों में मारा गया था.

पेशावर अटैक के बाद एक पाकिस्तानी रिपोर्टर ने ट्वीट करते हुए कहा कि TTP के प्रवक्ता ने पेशावर सुसाइड अटैक की जिम्मेदारी ली है. TTP ने कहा कि उन्होंने पिछली सरकार ANP का बदला लिया है. सुसाइड अटैक को अंजाम देने वाले आतंकी का नाम मुजाहिद अब्दुल करीम बताया जा रहा है. उधर पाकिस्तान चुनाव आयोग ने इस घटना के बाद पेशावर के पीके-78 संसदीय क्षेत्र में होने वाले चुनाव की तारीख को टाल दिया है. चुनाव आयोग ने कहा कि पीके-78 वोटिंग के लिए जल्द नई तारीख की घोषणा की जाएगी.

Share This Post