शासन में शासक का सम्मान करना सिखाया गया जाम्बिया में जहाँ अपने शासक की तस्वीर फेसबुक पर डालने वाला पाया सजा


आजकल सोशल मीडिया पर लोग अनेक प्रकार से अपने मन की भड़ास निकाल रहे है। ये भडास और आपत्तिजनक टिप्पणिया कई बार इस हद गुजर जाती है है कि लोग अपना दायरा भूल जाते है। यहाँ तक की अपशब्दों का इस्तेमाल कर लोगों के आत्मसम्मान को ठेस पहुचाई जाती है। जाम्बिया के एक डॉक्टर को ये गुस्ताखी तब महंगी पड़ गयी जब उन्होंने देश के राष्ट्रपति के खिलाफ फेसबुक पर अनाप-सनाप कमेंट कर दिए। जिसके बाद अदालत ने उन्हें दोषी ठहराते हुए तीन साल की जेल करा दी।

पश्चिमी जाम्बिया के मोंगु जिले की एक अदालत ने राष्ट्रपति एडगर लुंगु का अपमान करने के आरोप में एक चिकित्सक को दोषी ठहराने के बाद बुधवार को तीन साल के लिए जेल भेज दिया। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने पुलिस प्रवक्ता एस्थर म्वाटा-काटोन्गो के हवाले से बताया कि चिकित्सक ने एक फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाया था, जिसके जरिए उसने जाम्बिया के नेता की तस्वीरों के साथ डिजिटल रूप से छेड़छाड़ कर उनका मजाक उड़ाया और अपमानजनक टिप्पणियां की।

उन्होंने कहा कि चिकित्सक ने एक अन्य चिकित्सक के नाम से फेसबुक अकाउंट बनाया था और जब उन्होंने शिकायत की तो उसने उस चिकित्सक को हत्या की धमकी दी। पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि वह इस निर्णय का स्वागत करती हैं क्योंकि जिन लोगों को सोशल मीडिया पर अपमानजनक टिप्पणी करने की आदत है, उन्हें इस कदम से कड़ी चेतावनी मिलेगी। अदालत ने फेसबुक पर राष्ट्रपति का अपमान करने के आरोप में एक डॉक्टर को 3 साल की सजा दी है।

इससे पहले मोंगु जिले की अदालत ने राष्ट्रपति एडगर लुंगु का अपमान करने के आरोप में चिकित्सक को दोषी ठहराया था। बुधवार को आरोपी डॉक्टर को तीन साल के लिए जेल भेज दिया गया। पुलिस के मुताबिक डॉक्टर ने एक अन्य डॉक्टर के नाम से फेसबुक अकाउंट बनाया था और जब उन्होंने शिकायत की तो उसने उस डॉक्टर को हत्या की धमकी दी थी। पुलिस के प्रवक्ता ने कहा कि वह इस फैसले का स्वागत करते हैं क्योंकि जिन लोगों को सोशल मीडिया पर अपमानजनक टिप्पणी करने की आदत है, उन्हें इस कदम से कड़ी चेतावनी मिलेगी


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...