पाकिस्तान का एक और घिनौना रूप आया सामने, क्लास रूम की सफाई न करने पर बुश्रा और रेहाना ने बच्ची के साथ की क्रूरता

एक तरफ तो पाकिस्तान सीमा पर बार-बार संघर्षविराम का उल्लंघन कर सेना पर हमला करता है, वहीं, दूसरी तरफ अपने ही देश में बच्चों को किस तरह से प्रताड़ित करता है ये अब सबके सामने आ गया है। पाकिस्तान के एक स्कूल से ऐसा क्रूरता भरा मामला सामने आया है जिसे जानकर आप दंग रहे जाएंगे।

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के शाहदरा स्थित कोट शहाबदीन में सिटी डिस्ट्रिक्ट गर्वनमेंट गर्ल्स स्कूल में 14 साल की फज्जर नूर को उसकी टीचर ने सिर्फ इस लिए स्कूल की छत से धक्का दे दिया क्योंकि उसने स्कूल रूम की सफाई करने से इंकार कर दिया। अब फज्जर नूर अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है।

इस घटना की वजह से उसकी रीढ़ की हड्डी टूट गई है। होश में आने के बाद नूर ने बताया कि मेरी क्लास टीचर बुश्रा और रेहाना ने 23 मई को मेरी बारी आने पर मुझे क्लासरूम की सफाई करने के लिए कहा। लेकिन मेरी तबीयत ठीक होने की वजह से मैंने उन्हें मना कर दिया औरॉ किसी और दिन सफाई करने को कहा। इस पर वह मुझे एक दूसरे कमर में ले गईं और मुझे मारने-पीटने लगीं।

इसके बाद वो मुझे छत पर ले गईं और छत साफ करने के लिए कहा। जब मेरे दोबारा उनसे कहा कि मेरी तबीयत ठीक नहीं है तो उन्होंने मुझे छत से धक्का दे दिया। पंजाब के शिक्षा सचिव (स्कूल) अल्लाह बख्श मलिक ने कहा कि इस मामले के पता चलने के बाद हमने जांच शुरू कर दी है और मामला पूर्ण जांच के लिए मुख्यमंत्री जांच दल को भेज दिया गया है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने यह घटना छिपाने के कारण जिला शिक्षा प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अहसान मलिक, उप डीईओ तैयबा बट और प्राचार्या नगमाना इरशाद को तत्काल निलंबित कर दिया है। साथ ही दोनों शिक्षिकाओं को भी निलंबित कर दिया गया है और उनके खिलाफ पंजाब कर्मचारी दक्षता एवं अनुशासन कानून के तहत मामला चलाया जाएगा।

Share This Post