कश्मीर के बाद अब बंगलादेश बॉर्डर भी अभेद्य.. भारत में घुस रहे 26 बंगलादेशी BSF ने दबोचे

जिस प्रकार से कश्मीर की सीमा को सैनिको ने अभेद्य बना दिया था अब उसी प्रकार से वही चौकसी हर तरफ दिखाई दे रही है और जो बॉर्डर कभी बंगलादेशियो के लिए हो गया था एक प्रकार से फ्री जैसा वो अब अभेद्य हो गया है . विदित हो कि पशिचम बंगाल के बंगलादेश से सटे बॉर्डर इलाके से शुरू हुआ एकतरफा जनसंख्या असंतुलन धीरे धीरे पहले पूरे बंगाल में और बाद में पूरे भारत में फ़ैल गया था जिसको अब आगे न बढने देने के लिए सरकार ने कमर कस लिया है .

पीएम मोदी की तारीफ़ की शशि थरूर ने तो भड़क उठी कांग्रेस, थरूर को लेकर लिया ये फैसला

भारत के सुरक्षा बलों की सतर्क नजरों से अब वो 26 बंगलादेशी नहीं बच पाए हैं जो किसी भी प्रकार से सीमा पार करने के लिए अलग अलग रास्तो से घुसने की कोशिश कर रहे थे.. सीमा सुरक्षा बल BSF की कड़ी निगरानी के चलते वो सभी सीमा पर ही दबोच लिए गये हैं और आगे की कानूनी कार्यवाही शुरू कर दी गई है. इससे पहले बीएसएफ सोमवार को पांच अन्य बांग्लादेशी नागरिकों को भारत-बांग्लादेश सीमा पर उत्तरी 24 परगना जिले के स्वरूपनगर और गाईघाटा क्षेत्रों से गिरफ्तार किया था।

पाकिस्तान को आका मानने वाले कश्मीरी आतंकियों को धूल चटाने के बाद अब गृहमंत्री अमित शाह के निशाने पर चीन को पिता मानने वाले

सुदर्शन न्यूज ने लगातार बंगलादेशियो से भारत को मुक्त करने का अभियान के साथ शो किये हैं जिस पर निश्चित तौर पर अब सरकार द्वारा कड़ा अमल किया जा रहा है .. बीएसएफ ने घोना फील्ड इलाके से यह गिरफ्तारी की है और इसके बाद सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है.. सवाल ये  जरूर बन रहा है कि आखिर ममता शासित प्रदेश को ही क्यों अपने लिए सुरक्षित मान रहे हैं घुसपैठी .. NRC की मांग का विरोध ममता द्वारा करना भी इसका एक बड़ा कारक माना जा रहा है .

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–

Share This Post