एक ही प्रकार के आतंकवाद से लड़ रहे दो देश. अब मिलकर लड़ेंगे एक ही साथ

एक खास मज़हब वर्ग पूरे विश्व में इस्लामिक आतंकवाद फैला रहा है। जरूरत इस आतंकवाद को नस्तनाबूद करने की उसके जड़ो को काटने की। इसी आतंकवाद को खत्म करने के मिशन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इजरायल में हैं। प्रधानमंत्री ने दुनियाभर में महामारी की तरह फैले आतंकवाद, कट्टरपंथ और हिंसा की बुराईयों को दृढ़ संकल्प के साथ विरोध करने का आह्वान किया।
 
उन्होंने कहा कि हमें भारत के यहूदी बेटों और बेटियों पर गर्व हैं जैसे कि लेफ्टिनेंट जनरल जेएफआर जैकब, वाइस एडमिरल बेंजामिन सेमसन, प्रसिद्ध वास्तुकार जोशुआ बेंजामिन और फिल्मी कलाकार जैसे नादिरा, सुलोचना और प्रमिला। इन लोगों के विविध योगदान ने भारतीय समाज के तानेबाने को और गौरवान्वित किया है। पीएम मोदी ने कहा कि दोनों देशों के लोगों के बीच जो संबंध है वह हजारों वर्ष पुराने हैं। जब यहूदी पहली बार भारत के दक्षिण-पश्चिम तट पर उतरे थे, तब से यहूदी उनकी परंपराएं और रीति रिवाज भारत में फले-फूले और समृद्ध हुए हैं। 
इजरायल के पीएम नेतन्याहू ने कहा कि आतंकवाद की बुराई से निबटने के लिए दोनों देशों को मिलकर खड़ा होना होगा। भारत और इज़रायल को ‘सिस्टर डेमोक्रेसी’ बताते हुए उन्होंने कहा कि हम साथ मिलकर महान काम कर सकते है। दोनों देश इस्लामिक आतंकवाद से लड़ रहे है और अब मिलकर सामना करेंगे। शांति, स्थिरता और समृद्धि के समक्ष पेश आने वाली साझा चुनौतियों से निबटने के लिए सुरक्षा साझेदारी को और मज़बूत करेंगे। इज़रायल के प्रधानमंत्री ने मिलकर आतंकवाद के खिलाफ हल्ला बोलने पर जोर दिया। 
Share This Post