Breaking News:

मीडिया का दमन किसे कहते हैं ये देखा गया पाकिस्तान में… हालात ये कि अमेरिका तक ने जताई चिंता

पाकिस्तान अंदर से खोखला हो गया. पाकिस्तान भारत के खिलाफ जहर तो उगलता ही है साथ साथ आतंक के सपोलों को पाल के उनको डसने के लिए भी भेजता

है. अब पाकिस्तान अपने यहाँ के फ्रीडम ऑफ़ स्पीच और एक्सप्रेशन को भी धीरे धीरे खत्म कर रहा है. ताजा मामला इस बात का गवाह है कि कैसे पाकिस्तान दिनों

दिन खोखला होता जा रहा है और वो दिन दूर नहीं जब पाकिस्तान का कार्य भार भी आतंकियों के हाथ में होगा और वो जब मर्जी, जहाँ मर्जी आतंक बरपायेंगे और

कत्लेआम मचाएंगे.

आपको बता दे कि बता दे कि पाकिस्तान ने फ्री यूरोप/ रेडियो लिबर्टिज स्टेशन बंद कर दिया है. ये स्टेशन अमेरिका ने पश्तो भाषा में चलती थी. इसको चलाने के

लिए अमेरिका धन मुहैया कराता था. जिसे पाकिस्तान ने पूर्ण रूप से बंद करा दिया और पाकिस्तान ने आरोप लगाया है कि अमेरिका द्धारा वित्त पोषित इस स्टेशन

में पाकिस्तान के हितों के खिलाफ सामग्रियां प्रसारित की जाती हैं.

आईएसआई द्वारा इस रेडियो स्टेशन पर पाकिस्तान के ‘हितों के खिलाफ’ कार्यक्रम प्रसारित करने

के आरोप के बाद पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने इस स्टेशन को बंद करने के लिए कहा था. हालांकि इस आरोप को रेडियो स्टेशन आरएफई/आरएल ने खारिज कर

दिया. आरएफई/आरएल के अध्यक्ष थॉमस केंट ने कहा, ‘रेडियो मशाल किसी भी खुफिया एजेंसी या किसी सरकार के हित में नहीं काम करता है.’

इसके बाद अमेरिका के विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि ‘हमने ये रिपोर्ट देखी है और पाकिस्तान सरकार के समक्ष अपनी चिंताएं प्रकट की हैं. हम

मामले पर करीब से नजर बनाए हुए हैं.’
पाकिस्तान को अमेरिका आतंकवाद के उपर लगातार डाटते रहता है. जिसके बाद पाकिस्तान के ओर से ये फैसला साफ़ संदेश है कि पाकिस्तान अमेरिका के खिलाफ

है.

Share This Post