Breaking News:

रूस ने मोदी को दिया सर्वोच्च सम्मान तो अमेरिका ने पस्त किया पाकिस्तान को.. मोदी सरकार के एक कदम को बताया सही जबकि विरोध में था चीन


हिंदुस्तान की बढ़ती ताकत को अब दुनिया खुलकर सलाम कर रही है. समुद्र से लेकर आसमान तक में आज भारत का डंका बज रहा है तथा दुनिया की बड़ी महाशक्तियां इस उभरते भारत की अहमियत को स्वीकार करते हुए भारत के साथ खड़ी हो रही हैं. दुनिया में भारत की इसी बढ़ती ताकत का नजारा उस समय देखने को मिला जब दुनिया के सबसे ताकतवर मुल्क कहे जाने वाले रूसकी सरकार ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रूस के सर्वोच्च नागरिक सम्मान- ऑर्डर ऑफ़ सेंट एंड्रयू द एपोस्टल से सम्मानित करने का फैसला किया है.

बिस्मिल्लाह खान के पोते का किसने किया था ब्रेनवाश… उनके खुलासे ने कटघरे में खड़ा कर दिया एक पूरे समूह को

एकतरफ रूस ने पीएम मोदी को सर्वोच्च सम्मान दिया है वहीं दूसरी तरफ अमेरिका ने भारत के समर्थन में पाकिस्तान को पस्त कर दिया है. अमेरिका ने भारत के उस कदम का समर्थन किया है, जिसका पाकिस्तान, यहां तक कि चीन भी विरोध कर रहा था. ज्ञात हो कि पिछले दिनों भारत ने अंतरिक्ष में A-SAT का सफल परीक्षण कर दुनियाभर के तमाम देशों को चौंका दिया था. भारत ने 27 मार्च को जमीन से अंतरिक्ष में मार करने वाली मिसाइल से अपने एक उपग्रह को मार गिराने के साथ ही ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल कर ली थी. इस परीक्षण के साथ ही अमेरिका, रूस और चीन के बाद भारत ए सैट क्षमताओं वाला चौथा देश बन गया. भारत की कामयाबी के बाद पाकिस्तान, चीन समेत कई देशों ने अंतरिक्ष में भारत की लगातार बढ़ती शक्ति पर चिंता जताई थी.

ट्विटर के बाद फेसबुक ने जारी की वर्ल्ड टॉप लीडर्स की लिस्ट.. डोनाल्ड ट्रंप को भी पीछे छोड़ा मोदी ने

लेकिन अब अमेरिका ने भारत के “मिशन शक्ति” का समर्थन किया है. मिशन शक्ति के जरिए उपग्रह रोधी मिसाइल परीक्षण क्षमताएं हासिल करने के लिए भारत का बचाव करते हुए अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन ने कहा कि भारत अंतरिक्ष में पेश आ रहे खतरों से चिंतित है. पेंटागन ने कहा कि भारत को अंतरिक्ष में बढ़ते तनाव की चिंता है, इसलिए उसने अपनी सुरक्षा में इस तरह का A-SAT मिसाइल टेस्ट किया है, जो बिल्कुल जायज है. अमेरिका स्ट्रेटेजिक कमांड के कमांडर जनरल जॉन ई. हैटन ने कहा कि हमें सबसे पहले ये समझना होगा कि हिंदुस्तान को ऐसा क्यों करना पड़ा, इस पर कमेटी जांच कर रही है लेकिन सबसे बड़ी बात ये है कि उन्हें ये भी अंतरिक्ष में दूसरी शक्तियों से खतरा है. इसलिए वह रक्षात्मक तरीका अपना रहे हैं. अमेरिका ने कहा है कि वह भारत के रुख का समर्थन करता है.

जय श्रीराम: सनातन के आराध्य प्रभु श्रीराम के जन्मोत्सव “श्रीराम नवमी” की संसार के सभी सनातनियों को हार्दिक शुभकामनाएं

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...