कहर बन कर गिरा इजरायल हमास पर. सैकड़ो राकेट के वार से गाज़ा का उत्तरी क्षेत्र बना खंडहर

एक बार फिर से अंतराष्ट्रीय परिदृश्य पर आ चुका है इजरायल . आतंकवाद के खिलाफ एक बड़ी मुहिम छेड़ते हुए इजरायल ने हिला कर रख दिया गाज़ा में आतंक के तमाम ठिकानो को और अपनी सीमाओं से ही राकेट के हमलो में मार डाला है कई आतंकियों को . इस हमले के लिए इजरायल ने किसी भी देश की सहमति तो दूर ख़ुशी या दुःख की परवाह नहीं की और अचानक ही ताबड़तोड़ हमलो से हिला दिया गाज़ा को .

यद्द्पि इस मामले में इसराइल ने कहा है कि पहला हमला हमास की तरफ से हुआ था जसके उत्तर उसने दिया है . इजरायल के प्रवक्ता ने कहा है की 90 से ज़्यादा रॉकेट हमलों के जवाब में उसने उत्तरी गज़ा में हमास के दर्जनों सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया है. इस अंधाधुंध हमले के बाद फ़लस्तीनी स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है ग़ज़ा शहर पर हुए हवाई हमलों में कुछ लोगों की मौत हुई है और कई लोग घायल हुए हैं .

इजरायल के सैन्य सूत्रों के अनुसार पहले हमास ने उसके सैनिक इलाको और ट्रेनिंग कैम्पों को निशाना बनाया जिसके जवाब में मजबूरन उसको जवाबी कार्यवाही करनी पड़ी है . माना जा रहा है की गाज़ा क्षेत्र में सन २०१४ के बाद अब तक का ये सबसे बड़ा हमला है .  इसराइल के रक्षा बलों (आईडीएफ़) ने कहा, “अगर ज़रूरत होगी तो हमास के आतंकी हमलों की प्रतिक्रिया का दायरा हम बढ़ा सकते हैं. अगर हमास को आज हमारा संदेश नहीं मिलता तो कल मिल जाएगा.” इसराइल के प्रधानमंत्री बेन्यामिन नेतन्याहू ने कहा है कि ऑपरेशन अभी जारी रह सकता है. इस हमले से डर कर सीमा पर बड़े पैमाने पर प्रदर्शन हो रहे हैं और फ़लस्तीनी मांग कर रहे हैं कि उन्हें इसराइल में मौजूद उनके पुश्तैनी घरों को लौटने का अधिकार दिया जाए लेकिन इजरायल अपने इरादों से टस से मस होने को नहीं तैयार है .

Share This Post