शिया सुन्नी जंग अब विश्व स्तर पर. इराक में ईरान के वाणिज्य दूतावास में घुसे चरमपंथी .. ध्वस्त कर दी बिल्डिंग और लगा दी आग

एक बार फिर से शिया और सुन्नी की जंग सतह पर आ गयी है . ये जंग कभी सद्दाम के समय सबसे आगे हुआ करती थी जब शियाओं का सामूहिक नरसंहार कर के वहां के कुर्दों को भी एक साथ मार कर सुन्नियो ने वहां पर अपना अधिपत्य किया था .. यही वजह है की ऐसा माना जा रहा है की सद्दाम के शासन को ध्वस्त करने में शिया मुस्लिमों ने अमेरिका की मदद की थी और आज भी वहां पर ISIS आये दिन शियाओं को निशाना बना रहा है ..

ज्ञात हो की इराक के दक्षिणी शहर बसरा में शुक्रवार को शिया मुल्क ईरान के वाणिज्य दूतावास में कट्टरपंथी सुन्नी विचारधारा के दर्जनभर उन्मादियों ने घुस कर उस इमारत में आग लगा दी और बिल्डिंग को बुरी तरह से ध्वस्त कर दिया .. विदेशी समाचार संस्था सिन्हुआ के मुताबिक, एक सूत्र ने पहचान उजागर नहीं करने की शर्त पर बताया कि इस हमले से पहले ईरानी कर्मचारियों को इमारत से दूर सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया. इराक के विदेश मंत्रालय ने बाद में ईरान के वाणिज्य दूतावास पर हमले की कड़ी निंदा करते हुए कहा, “यह अस्वीकार्य घटना है और देश के राजनयिक मिशनों के लिए आतिथ्य के अनुरूप नहीं है.”

इस मौके अपर सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम होने के बाद भी ये हादसा होना ईराक में बढ़ रहे मज़हबी चरमपंथ को दिखा रहा है . इराक के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अहमद माहजूब ने कहा, “राजनयिक मिशनों को निशाना बनाना इराक के अन्य देशों से संबंधों को नुकसान पहुंचाता है और यह प्रदर्शनकारियों की नारेबाजी और पानी जैसी उनकी जरूरतों की मांग से संबद्ध नहीं है.” सूत्र के मुताबिक, प्रदर्शनकारी अमेरिकी वाणिज्य दूतावास की ओर भी बढ़े थे लेकिन चाकचौबंद सुरक्षा इंतजाम की वजह से वे इस प्रयास में सफल नहीं हुए. सूत्र ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने ईरान समर्थित असेब अहल अल-हक गुट के मुख्यालय पर भी हमला किया और मध्य बसरा के बारेहा क्षेत्र में इसकी इमारत में आग लगा दी

Share This Post