आपस में भिड गये हैं इस्लामिक मुल्क.. यमन ने अरब के 14 सैनिक मार डाले

ये वो देश हैं जो काफी समय से एक दूसरे से उलझे हुए हैं .यहाँ एक देश सऊदी अरब है जिसके मौलाना इस्लाम के नाम पर आये दिन बड़ी बड़ी तकरीरें दिया करते हैं और ईराक से ले कर पाकिस्तान तक के मुसलमान उनकी तकरीरों पर विश्वास कर के मुस्लिम एकता जिंदाबाद के नारे लगाया करते हैं . लेकिन अब जो कुछ हो हो रहा है उसको देख कर लगता है कि उनके तमाम भाषण और उनकी तमाम तकरीरें अपने ही मुल्क में दम तोड़ रही हैं और उसके सीमाओं पर जिसका भी खून बह रहा वो सब मुसलमान ही हैं .

उत्तर प्रदेश में अब नहीं दिखेंगी सडको पर बेसहारा गायें.. योगी सरकार का सराहनीय फैसला

ध्यान देने योग्य है कि खाड़ी देशो के हालत एक बार फिर से अपने नाजुक दौर में पहुच गये हैं . यहाँ जो भी देश आपस में एक दूसरे का खून बहाने पर आमादा हैं वो खुद में इस्लामिक कहे जाते हैं .. ये मुल्क हैं यमन और अरब जो एक दूसरे की तरफ अपने सैनिक और सभी हथियार तान कर खड़े हुए हैं . इस खून के खेल में आये दिन पीछे रहने वाले यमन ने इस बार बढत जैसी बनाई है और मार डाले हैं सऊदी अरब के लगभग 14 सैनिक जिसके बाद सऊदी अरब ने भी माकूल बदला लेने का एलान किया है .

दलित लड़कियां उसके निशाने पर थीं.. उसके हाथ में कलावा होता था और फिर होता था बलात्कार

यमनी सूत्रों ने बताया है कि शुक्रवार की रात भी यमनी बलों ने दक्षिणी सऊदी अरब के असीर प्रांत के अबवाबुल हदीद क्षेत्र में सऊदी सैनिकों के एक ठिकाने को ज़िलज़ाल-1 मीज़ाइल से निशाना बनाया था। इस हमले में भी दसियों सऊदी सैनिक हताहत व घायल हुए थे।यमनी सेना और स्वयं सेवी बलों ने बताया है कि ज़िलज़ाल-1 प्रकार के तीन बैलिस्टिक मीज़ाइल और कई कैट्यूशा मीज़ाइल जीज़ान के जबलुन्नार क्षेत्र में सऊदी अरब के पिट्ठू सैनिकों के एकत्रित होने के स्थान पर फ़ायर किए गए

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

Share This Post