फ़ौज के बन्दूकों से निकले बारूद से कश्मीर में छाई शान्ति. सदा के लिए खामोश हुआ मोस्ट वांटेड हिजबुल आतंकी गुलज़ार 5 गद्दारों के साथ

इस आतंकी की मौत का पूरे देश को इंतज़ार . हर किसी की इच्छा थी कि आये दिन सेना और देशवालों को चुनौती देते इस गद्दार को कब सेना मारेगी और आखिरकार वो दिन आ ही गया . अपने नापाक मंसूबों के साथ आख़िरकार देश के 5 और गद्दार सदा सदा के लिए खामोश कर दिए गये हैं . सेना ने ये पराक्रम कुलगाम में एक सटीक सूचना के बाद दिखाया जिसमे आमने सामने काफी देर तक जंग हुई थी .

ध्यान देने योग्य है कि सुबह सुबह देशवासियों को एक शुभ समाचार तब मिला जब जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में शनिवार की सुबह सुरक्षाबलों ने 5 दुर्दांत इस्लामिक आतंकियों को मार गिराया. बताया जा रहा है कि ये आतंकी लश्कर और हिज्बुल के थे और दोनों एक साथ मिल कर किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फ़िराक में थे . सटीक सूचना ये मिली थी कि ये सभी आतंकी एक घर में छिपे हुए थे. इसमें वो मोस्ट वांटेड आतंकी गुलज़ार पैडर भी था जिसको सेना ने अपनी हिट लिस्ट A+++ कैटेगरी में रखा गया था.  इन सभी को सदा के लिए खामोश करने के बाद पिछले 48 घंटे में अब तक 12 इस्लामिक आतंकी कश्मीर में मारे जा चुके हैं .

पूरा इलाका पुलिस और सुरक्षा बलों ने घेर रखा है और मौके पर जम्मू-कश्मीर पुलिस, राष्ट्रीय राइफल्स जवान पहुच चुके हैं . इलाके की सघन तलाशी के लिए भारी सुरक्षा बल सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं. कुलगाम और अनंतनाग में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है. वहीं, बारामुला-कांजीकुंड के पास ट्रेन सेवा फिलहाल रोक दी गई है. बताया जा रहा है कि शुक्रवा-शनिवार की दरमियानी रात ही सेना को काजीगुंड़ के एक घर में आतंकवादियों के छिपे होने की सूचना मिली. इसके बाद पुलिस, राष्ट्रीय राइफल्स और सेना की टीमों ने इलाके की नाकेबंदी करके घर को घेर लिया. बताया जा रहा है कि खुद को घिरा पाकर आतंकवादियों ने गोलीबारी शुरू कर दी जिसका जवाब हिन्द के वीरों को देना पड़ा और आखिरकार उन तमाम के नापाक मंसूबे ध्वस्त हो गये और वो सभी लाशो में बदल गये .

Share This Post