करनी का फ़ल भुगतना ही पड़ता है.. कश्मीर भेजी जा रहीं पैरामिलिट्री की 100 और कम्पनियां

भारत के आन, मान , सम्मान को आतंकियों व आतंकियों के समर्थकों द्वारा जो चुनौती दी गयी है उसको सीधे सीधे स्वीकार करती दिख रही है भारत की सरकार और अब आर या पार के मूड में दिखती सरकार ने उन सांपों के फनों को कुचलने की पूरी तैयारी कर ही डाली है जो भारत का ही खा कर भारत को ही खोखला करने के लिए दिन रात एक कर के रखे हुए हैं..जहां पाकिस्तान की नापाक हरकत से भारत सरकार की त्योरियां चढ़ी हुई हैं तो वहीं भारत के अंदर से ही निकल कर आये तमाम गद्दारो के चलते देश भी अब अंदर से देशभक्तों व देशद्रोहियो में अलग 2 पक्ष जैसा हो चुका है ..

विदित हो कि ताजा जानकारी के अनुसार गद्दार पत्थरबाजों व आतंक परस्तों को सही दंड देने के उद्देश्य से भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने अर्द्धसैनिक बलों की 100 अतिरिक्त कंपनियों को कश्मीर की तरफ रवाना कर दिया है..इस रवानगी के आगे अर्द्धसैनिक बलों के उच्चाधिकारियों को प्राप्त हो चुके है जिसके बाद न सिर्फ आतंकियों को बल्कि आतंकियों के यारों व मददगारों में खलबली जैसी मची हुई है..इस अभियान को मोदी सरकार के किसी बहुत ही बड़े एक्शन से जोड़ कर देखा जा रहा है जो पाकिस्तान तक मे कौतूहल का विषय बना हुआ है..

पैरामिलिट्री की इन बटालियनों में सीमा सुरक्षा बल BSF, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल CRPF, भारत तिब्बत सीमा पुलिस ITBP आदि शामिल हैं ..लगातार बढ़ते जनदबाव को देखते हुए अब कार्यवाही अवश्यम्भावी लग रही है जिसके चलते इतनी बड़ी संख्या में सुरक्षाबलों को कश्मीर में भेजा जाना देशभक्त एक सुखद संकेत के रूप में मान रहे हैं जबकि देशद्रोहियो की टोली में हलचल सी मची हुई है..

Share This Post