सुप्रीम कोर्ट के बाहर विरोध स्वरूप फोड़े गए पटाखे.. इरादा साफ कि ये फैसला स्वीकार नहीं

सुप्रीम कोर्ट ने दिवाली पर पटाखे जलाने पर रोक लगा दी है। जिससे हिन्दू समुदाय काफी रोष है और इसी रोष का नतीजा है कि आजाद हिंद फौज के सदस्यों ने मंगलवार शाम को सुप्रीम कोर्ट के बाहर पटाखे जलाए। विदित हो कि हिन्दू समाज काफी आलोचना कर रही है इस रोक का क्योंकि ऐसा लगता है हिन्दू सहनशील है इसलिए उसको आसान टारगेट माना जाता है और उसी के आस्था के साथ खिलवाड़ किया जाता है। आपको बता दें कि पटाखों की बिक्री पर रोक लगाने के विरोध में आजाद हिंद फौज के सदस्यों ने मंगलवार शाम को सुप्रीम कोर्ट के बाहर पटाखे जलाए और नारे भी लगाए।

सतपाल मल्होत्रा के नेतृत्व में फौज के लोग यहां पहुंचे थे। पुलिस ने 14 लोगों को हिरासत में ले लिया। इनके खिलाफ पुलिस एक्ट के तहत कार्रवाई की गई। हालांकि देर रात जमानत पर छोड़ दिया गया। मिली जानकारी के मुताबित आजाद हिंद फौज के करीब 20 सदस्य सुप्रीम कोर्ट के बाहर पहुंचे और पटाखे जलाने शुरू कर दिए। इन लोगों ने करीब 20 मिनट तक पटाखे जलाए। काफी देर तक नारेबाजी भी किया। पुलिस के मुताबित पटाखों की आवाज सुनते ही जिला डीसीपी समेत कई वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच गए।
पुलिस ने फौज के 14 लोगों को हिरासत में ले लिया। सभी को तिलक मार्ग थाने ले जाया गया। इनके खिलाफ दिल्ली पुलिस एक्ट के तहत कार्रवाई की गई। बहरहाल, सबको देर रात जमानत पर छोड़ दिया गया। नई दिल्ली जिला पुलिस अधिकारियों के अनुसार, ये लोग सुप्रीम कोर्ट द्वारा पटाखों की बिक्री पर रोक लगाने का विरोध कर रहे थे।
Share This Post

Leave a Reply