Breaking News:

जिस आतंकी ने किया था MBA अब उसी पर घोषित हुआ 15 लाख का इनाम.. जितना पढ़ा-लिखा आतंकी उतना ही बड़ा इनाम


हमारे देश में कथित सेल्क्यूलर राजनेताओं तथा बुद्धिजीवियों द्वारा एक थ्योरी गढ़ी जाती है कि अशिक्षा के कारण, बेरोजगारी के कारण युव हथियार उठाते हैं तथा आतंकी बनते हैं. जब जब भारतीय सेना कश्मीर में देश के दुश्मन आतंकियों को ढेर करती है, तब तब आतंकियों के समर्थन में ऐसी थ्योरी गढ़ी जाती रही हैं तथा इसकी आड़ में राष्ट्र रक्षक सेना के जवानों को निशाना जाता रहा है, सेना को कटघरे में खड़ा किया जाता रहा है.

हाल ही में आतंकी हारून अब्बास वानी पर 15 लाख रूपये का इनाम घोषित किया गया है. सबसे बड़ी बात ये है कि आतंकी आतंकी हारून अब्बास वानी कोई अशिक्षित नहीं है बल्कि वह MBA किया हुआ है. आतंकी आतंकी हारून अब्बास वानी पर 15 लाख रूपये का इनाम घोषित करने के पीछे कई सवाल खड़े हो रहे हैं. लोग आश्चर्य में है कि कई बड़े आतंकियों पर भी इतना इनाम घोषित नहीं हुआ. यहां तक कि कश्मीर में हिजबुल का चेहरा माने जाने वाले बुरहान वानी पर भी दस लाख का ही इनाम था जबकि हारून अब्बास वानी पर 15 लाख रूपये का इनाम घोषित किया गया है.

सुरक्षा एजेंसियों को जानकारी मिली है कि हारून चिनाब घाटी में हारून युवा आतंकियों की भर्ती कर रहा है. वह इलाके में मौजूद है और किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में है या फिर चिनाब घाटी में वह आतंक का बड़ा नाम बन गया है, जिसे देखते हुए पुलिस की तरफ से ऐसा किया गया है. मंगलवार को डोडा पुलिस की ओर से एक पोस्टर जारी किया गया था जिसमें हारून और मसूद अहमद नाम के आतंकियों की तस्वीर जारी कर लिखा गया है कि इनकी खबर देने वाले को 15 लाख का इनाम दिया जाएगा.

पोस्टर में लिखा गया है कि खबर देने वाले का नाम गुप्त रखा जाएगा. पुलिस ने आम लोगों से अपील की है कि इनके जिंदा या मुर्दा होने की खबर देने वाले को इनाम दिया जाएगा. आतंकी हारून अब्बास वानी डोडा के घाट का रहने वाला है और मसूद डोडा जिले के देसा मजमी क्षेत्र का रहने वाला है. मसूद इसी साल जून में आतंकी बना और हारून ने पिछले साल सितंबर में आतंक की राह पकड़ी थी. सूत्रों का कहना है कि हारून इलाके में युवाओं को आतंकवाद की तरफ धकेल रहा है. इसको जल्द मार गिराना बहुत जरूरी है. इसलिए उस पर इतना इनाम घोषित किया गया है. हालांकि पुलिस के आला अधिकारी इस पर पोस्टर जारी करने के अलावा कोई और जानकारी नहीं दे रहे हैं.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share