Breaking News:

ISIS के कत्ल की शिक्षा ली और आ गए थे भारत.. किस का कत्ल करने ? ?


आईएसआईएस के नाम से तो सभी परिचित है और हो भी क्यों न ये आतंक का दूसरा नाम जो है जिसने पूरी दुनिया पर अपना कहर बरसा रहा है। इस आतंकी संगठन ने अब तक जाने कितने मासूमों की जाने ली है। इनके अंदर रहम या दया नाम की कोई भावना ही नहीं होती है बस ये पूरी दुनिया पर अपनी हुकूमत चाहते है। आईएसआईएस जैसे आतंकी संगठन से जुड़े तीन संदिग्ध को गिरफ्तार करने में पुलिस सफल रही

बता दें कि बुधवार को पुलिस ने आतंकी समूह इस्लामिक स्टेट से संदिग्ध रूप से जुड़े तीन व्यक्तियों को अपनी हिरासत में ले लिया है। सूत्रों के मुताबिक इन तीनों ने सीरिया में आतंकी संगठन से प्रशिक्षण हासिल किया था और कई साल पहले ही इन तीनो ने राज्य छोड़ दिया था। पुलिस को सुचना मिलते ही पुलिस ने केरल में तीनों को गिरफतार कर लिया। पुलिस के मुताबिक ये तीनों चक्करक्कल और वलपट्टिनम जिले के रहने वाले हैं और हाल में ही तुर्की से वापस लौटे हैं।  
सदानंदन कन्नूर पुलिस के उप अधीक्षक ने बताया कि , ”तीनों, मितिलज, अब्दुल रज्जाक और राशिद 25 से 30 साल की उम्र के हैं और उन्हें इस्लामिक स्टेट समूह से जुड़े होने के संदेह के कारण बुधवार दोपहर बाद करीब तीन बजे गिरफ्तार कर लिया गया।”दरअसल पहले रहस्यमयी परिस्थितयों में कम से कम 21 लोगों के लापता होने के मामले कीजांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) कर है। इसी जांच के चलते ये आशंका है की जो लोग लापता हुए थे उनमे से कुछ लोग आईएसआईएस आतंकी संगठन में शामिल हो गए थे।  
इनमें से 17 लोग कासरगोड के रहने वाले हैं और चार लोग पलक्कड के हैं और इसमें शामिल तीन महिलाएं और तीन बच्चे भी हैं। कन्नूर पुलिस के उप अधीक्षक सदानंदन ने बताया कि , ”तीनों के फोन काल की जांच की गई और उससे मिली जानकारी और प्रमाणों के आधार पर उन्हें गिरफ्तार किया गया है और आगे की जांच की जा रही है।” 

सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share