दक्षिण भारत से जेपी नड्डा का शाही अंदाज में स्वागत.. चंद्रबाबू नायडू के 4 सांसदों ने ओढ़ लिया भगवा तथा बोले- “मोदी जिंदाबाद”

केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी का कार्यकारी अध्यक्ष बनने के साथ ही जगत प्रकाश नड्डा का दक्षिण भारत से शाही अंदाज में स्वागत हुआ है. खबर के मुताबिक़, चंद्रबाबू नायडू की पार्टी तेलगू देशम पार्टी के 4 राज्यसभा सांसद भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गये हैं. लोकसभा चुनाव तथा साथ ही हुए आन्ध्र प्रदेश के विधानसभा चुनावों में करारी हार झेलने वाले चंद्रबाबू नायडू के लिए ये बड़ा झटका माना जा रहा है.

21 जून: पुण्यतिथि RSS के संस्थापक तथा प्रथम सरसंघचालक परमपूज्य डॉ. हेडगेवार जी.. उनका रोपा पौधा “संघ” आज वटवृक्ष बन कर छाँव दे रहा करोडो हिन्दुओं को

बीजेपी में शामिल होने से पहले टीडीपी के चार सांसदों ने बीजेपी में विलय का प्रस्ताव पारित किया, जिस पर बीजेपी ने. मुहर लगा दी. शाम में बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने टीडीपी के तीन राज्यसभा सांसदों को पार्टी में औपचारिक तौर पर शामिल कराया जबकि 1 राज्यसभा सांसद तबियत ठीक न होने के कारण प्रेस कांफ्रेंस में शामिल नहीं हो सके. जिन सांसदों ने टीडीपी छोड़ बीजेपी का दामन थामा है वो हैं सीएम रमेश, टीजी वेंटकेश, जी मोहन राव और वाईएस चौधरी शामिल हैं.

दुनिया भर में मनाया जा रहा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस.. भारतीय संस्कृति की खुशबू की महक रहा संसार

इन चारों सांसदों ने राज्यसभा में टीडीपी के भारतीय जनता पार्टी में विलय का प्रस्ताव पास किया और इसकी जानकारी राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू को दी. राज्यसभा में टीडीपी के कुल 6 सांसद थे, लेकिन अब सिर्फ दो ही बचे हैं. बीजेपी में शामिल होने वाले टीडीपी के इन सांसदों पर दलबदल कानून नहीं लागू होगा. इसकी वजह यह है कि दलबदल कानून किसी सदन में एक पार्टी के दो तिहाई सदस्यों को अपनी पार्टी का दूसरी पार्टी में विलय करने का अधिकार देता है. लिहाजा ये चारों राज्यसभा के सदस्य बने रहेंगे.

अमरिंदर शासित पंजाब में दुराचारी दरिंदों का कहर.. यहाँ बलात्कारी ईसाई युवक पीटर मसीह का साथ उसकी बहन तक दे रही

टीडीपी सांसदों को पार्टी में शामिल कराते समय बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि लंबे समय से इन सांसदों के मन में विचार आ रहा था कि पीएम मोदी के नेतृत्व में जिस तरह देश आगे जा रहा है और आंध्र प्रदेश के विकास के लिए इन्हें बीजेपी में शामिल हो जाना चाहिए. उन्होंने बताया, ‘गुरुवार को इन सांसदों ने बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह को पत्र लिखकर कहा कि वे बीजेपी में विलय करना चाहते हैं. इसके बाद टीडीपी के सांसदों और बीजेपी का पत्र लेकर हम उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के पास पहुंचे. अब ये सभी बीजेपी के सदस्य हैं. इन चारों राज्यसभा सांसदों के आने से आंध्र प्रदेश में बीजेपी का जनाधार बढ़ेगा.’

श्रीराम जन्मभूमि पर हमले के आरोपियों को उम्रकैद से संत नाराज.. बोले- “हाईकोर्ट में योगी सरकार मांगे इनके लिए मौत”

गुरुवार रात को टीडीपी छोड़ भाजपा में शामिल हुए राज्यसभा सदस्यों ने भाजपा अध्यक्ष व गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकत की. दरअसल इन नेताओं ने पहले ही राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से भाजपा में शामिल होने की इच्छा जताई थी. जब भाजपा से सहमति मिली तो उन्होंने प्रस्ताव पारित किया. पूरी औपचारिकता निभाने के बाद तीन सदस्य भाजपा कार्यालय भी पहुंचे. एक सदस्य जीएम राव पांव में चोट के कारण नहीं आ सके. राज्यसभा में नेता सदन थावरचंद गहलोत, महासचिव भूपेंद्र यादव की मौजूदगी में जेपी नड्डा ने उन्हें पार्टी में शामिल कराया और भरोसा दिलाया कि भाजपा सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास के मंत्र पर ही आगे बढ़ेगी.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

Share This Post