सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर सेना पर सवाल उठाने वाले केजरीवाल के विधायक ने सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत के खिलाफ उगला जहर… अमृतसर आतंकी हमले का जिम्मेदार बताया जनरल रावत को


सर्जिकल स्ट्राइक के समय जब पूरा देश भारतीय सेना जांबाज जवानों के शौर्य, पराक्रम, सहस को सलाम कर रहा था, भारतीय सेना के आगे नतमस्तक हो रहा था, उसी समय दिल्ली के मुख्यमंत्री तथा आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने सर्जिकल स्ट्राइक पर ही सवाल खड़े कर दिए थे. एक बार उसी सेना को निशाना बनाया गया है अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी के विधायक द्वारा जिसने आतंकियों से लड़ने वाली, आतंकियों से लड़कर अपने प्राणों का बलिदान देने वाली भारतीय सेना के अध्यक्ष जनरल विपिन रावत को अमृतसर आतंकी हमले का जिम्मेदार बता दिया है.

आपको बता दें कि पंजाब के आम आदमी पार्टी के विधायक और विधानसभा में विपक्ष के नेता रहे एचएस फुल्का ने विवादित बयान दिया है. उन्होंने अमृतसर में निरंकारी भवन में हुए आतंकी हमले के लिए सेनाध्यक्ष को जिम्मेदार बता दिया है. उन्होंने कहा है कि हो सकता है कि सेनाध्यक्ष विपिन रावत ने अपनी ही बात को सही साबित करने के लिए ये ग्रेनेड हमला कराया हो. फुल्का यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा, अमृतसर हादसे के पीछे सरकार का हाथ हो सकता है. इस हमले में 3 लोगों की मौत हो गई. फूल्‍का ने कहा, पंजाब में पहले भी सरकारें ही हमले कराती रही हैं. उन्‍होंने साफ साफ अमृतसर हमलों के पीछे सेना को ही दोषी बता दि‍या. उन्‍होंने कहा, कुछ दि‍न पहले सेनाध्‍यक्ष ने पंजाब में अशांति‍ और हमले की बात कही थी. हो सकता है क‍ि उन्‍होंने अपनी ही बात सही साबि‍त करने के लि‍ए ये हमला कराया हो.

बता दें कि सेनाध्यक्ष विपिन रावत ने कुछ दिनों पहले कहा था कि पंजाब पर निगाह रखने की जरूरत है. क्योंकि वहां पर खालिस्तान समर्थक अपनी कोशिशों में लगे हुए हैं. अगर उन पर अंकुश नहीं लगाया गया तो पंजाब में स्थिति हाथ से निकल जाएगी. अब केजरीवाल के विधायक की मानें तो जो सेना आतंकियों से लड़ते हुए अपने प्राणों का बलिदान देती है, पंजाब के अमृतसर में हमला उसी सेना ने कराया है. एच एस फुल्का के इस बयान के बाद पूरा देश आक्रोशित है तथा फुल्का अरविंद की आलोचना कर रहा है. हालाँकि राष्ट्र के आक्रोश को देखते हुए एच एस फुल्का ने अपने बयान के लिए माफी मांग ली है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...