फिर चर्चा में JNU.. अब सेना को गाली देने की आई खबर

देश की राजधानी स्थित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय JNU एक बार चर्चा में आ गया है. वही JNU जहाँ 2016 में लोकतंत्र के सबसे बड़े मंदिर संसद पर हमला करने वाले इस्लामिक आतंकी अफजल गुरु को फांसी दिए जाने का विरोध करते हुए देश विरोधी नारे लगाये गये थे. उसी JNU से एक बार फिर से विवादित आवाजें उठी हैं. भारत तेरे टुकड़े होंगे तथा कश्मीर की आजादी के नारों के बाद अब JNU में राष्ट्र रक्षक भारतीय सेना के जवानों को गाली दी गई है.

बता दें कि कल मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले, अलग संविधान और अपना अलग कानून बनाने जैसी छूट देने वाले अनुच्छेद-370 को खत्म कर दिया गया. मोदी सरकार के इस फैसले के बाद कथित छद्म सेक्यूलरवादी लोग तथा राष्ट्रविरोधी ताकतें भड़क उठी. कुछ को हमने सदन में कपड़े फाड़ते देखा, तो कुछ को सोशल मीडिया पर बयानबाजी करते. लेकिन अब खबर है कि भारत सरकार के इस फैसले के ख़िलाफ़ दिल्ली स्थित जेएनयू में भी बगावती सुर उठते दिखाई दिए हैं.

प्राप्त हुई खबरों की मानें तो सोमवार (अगस्त 5, 2019) की रात जेएनयू में सरकार के फैसले के ख़िलाफ़ ‘आजादी-आजादी’ के नारों की गूँज सुनाई दी. जानकारी के अनुसार कुछ लोगों ने अँधेरे में यहाँ जमकर नारेबाजी की और अनुच्छेद 370 को वापस लेने की माँग की. इस दौरान आपत्तिजनक भाषा के प्रयोग के साथ इन लोगों ने सेना को लेकर भी काफ़ी अपशब्द बोले, सेना को गाली दी गई. लाल सलाम का नारा बुलंद करने वाले इन लोगों ने इस दौरान खुद को हिंदुस्तानी बताने से भी परहेज किया. साथ ही वे आधी रात के अँधेरे में मीडिया के कैमरे से बचते नजर आए.

Share This Post