योगी आदित्यनाथ जी की दी समय सीमा समाप्त होते ही अधिकारियों पर शासन का कहर.. बोले- सुधारो खुद वर्ना आगे भी जारी रहेगा

जब चुनाव के लिए खड़े हुए थे तो जनता से वादा किया था कि जो भी करेंगे जनता के हित में और जनता के लिए करेंगे, भ्रष्ट लोगों को बाहर का रास्ता दिखाएंगे। योगी आदित्यनाथ ने यह साबित कर दिया की जो भी वादे उन्होंने किये थे वे अन्य पार्टिओं की तरह जूठे नहीं थे। जनता के कार्यो के लिए नियुक्त किये अधिकारियों ने जब लापरवाही बरती तो उन्हें दिखा दिया बाहर का रास्ता।

बीते दिन उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री के सख्त तेवर देखने महराजगंज जिले के समीक्षा बैठक के दौरान देखने को मिले। योगी जी जनसमस्याओं की सुनवाई के संबंध में अधिकारियों से स्पष्टीकरण ले रहे थे। जब उन्हें अधिकारिओ की कार्यों में लापरवाही और अन्य शिकायतें मिलने के बाद पुरेंदरपुर और फरेंदा के थाना प्रभारियों को निलंबित करने का आदेश जारी किया।
साथ ही साथ जिले में चार महीने से गायब डॉक्टरों के खिलाफ भी जांच के आदेश दिए हैं और कहां हैं कि अगर डॉक्टर्स सच में चार महीने से गायब हैं तो उनका चार महीने का वेतन नहीं दिया जायेगा। योगी आदित्यनाथ ने अपने इस कड़े कदम से सभी को यह बता दिया हैं की उनके राज में यूपी में भ्रस्ट लोगो की खेर नहीं। जो भी उनकी जनता के कार्यो के साथ लापरवाही बरतेगा उनकी उन्हें कोई ज़रूरत नहीं हैं।  
Share This Post