बीजेपी के हाथों करारी हार के बाद कांग्रेस के कद्दावर नेता का बड़ा बयान, कहा- “गांधी की विचारधारा को उनके हत्यारे(गोडसे) की विचारधारा ने हरा दिया”

लोकसभा चुनाव 2019 के सियासी रण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व वाले भारतीय जनता पार्टी नीत NDA गठबंधन की बंपर जीत के बाद कांग्रेस तथा अन्य विपक्षी दल अभी तक सदमे में हैं. विपक्ष को अभी तक यही समझ नहीं आ रहा है कि आखिर ऐसा क्या हुआ कि जनता ने पीएम मोदी के नाम पर बीजेपी तथा उसके सहयोगियों को झोली भरकर वोट किये तथा विपक्ष को पूरी तरह से नकार दिया.

इस बीच बीजेपी प्रत्याशी के हाथों करारी मात झेलने वाले कद्दावर कांग्रेसी नेता ने चौकाने वाला बयान देते हुए कहा कि इस लोकसभा चुनाव में गांधी की विचारधारा हार हुई है जबकि उनके हत्यारे(गोडसे) की विचारधारा जीत गई है. अपनी चुनावी हार को गोडसे की विचारधारा के हाथों गांधी विचारधारा की हार बताने वाले इन कांग्रेसी नेता का नाम है दिग्विजय सिंह. वही दिग्विजय सिंह जिन्होंने भगवा आतंक की बात कही थी तथा जिन्हें भोपाल लोकसभा सीट से भगवा आतंक की कथित थ्योरी की शिकार फायरब्रांड हिंदूवादी नेता साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने करारी शिकस्त दी है.

बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के हाथों भोपाल लोकसभा सीट से चुनावी शिकस्त झेलने वाले दिग्विजय सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस बुलाकर अपनी हार पर लोगों से बात की. प्रेस कांफ्रेंस में दिग्विजय सिंह ने कहा कि इस चुनाव में महात्मा गांधी के हत्यारे वाली विचारधारा जीत गई और देश में महात्मा गांधी की विचारधारा हार गयी, ये सबसे बड़ी चिंता की बात है. दिग्विजय सिंह ने दावा किया कि विकास को लेकर भोपाल की जनता से उन्होंने जो वायदे किए हैं उन्हें पूरा करने के लिए मैं हर संभव कोशिश करूंगा. मैं हारने के बाद भी भोपाल के लोगों के साथ रहूंगा.

इसके साथ ही दिग्विजय ने नतीजों से पहले बीजेपी की भविष्यवाणी पर हैरानी जताते हुए कहा कि बीजेपी ने 2014 में 280 पार का नारा दिया था और उतनी ही सीटें उसे हासिल हुईं. 2019 के चुनाव में उसने 300 पार का नारा दिया और इस बार भी बात सही साबित हुई. न्होंने कहा कि, बीजेपी के पास ऐसी कौन सी छड़ी है जो कहते हैं वह पूरा हो जाता है. बता दें कि भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ने कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह को 3,64,822 मतों के भारी अंतर से पराजित किया है. यहाँ से प्रज्ञा सिंह ठाकुर को कुल 8,66,482 वोट मिले जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस के दिग्विजय सिंह को 5,01,660 मत मिले.

Share This Post