अदालत ने माँगा था श्रीराम के वंशजो का प्रमाण.. अब अग्रवाल समाज ने CJI को पत्र लिख का जो कहा उसे जान कर हर कोई बोल पड़ा- “जय श्री राम”

कहीं ऐसा तो नहीं कि ये एक पत्थर मार दिया गया हो मधुमक्खी के छत्ते में. जिन्हें हिन्दू समाज कण कण में विराजमान मानता है . जिनकी तस्वीरें हर हिन्दू के घर में परिवार का सदस्य के रूप में लगी हों उसी हिन्दू समाज के सर्वोच्च आराध्य के पहले जन्मस्थल का प्रमाण माँगा गया था जो कई वर्षो से अदालत में तारीख पर तरीख बन कर खिंच रहा है और हिन्दू समाज अपने आराध्य को तम्बू में देखने के लिए और उसी हालत में दर्शन करने के लिए मजबूर हो रहा है ..

लेकिन अब तो उस से भी आगे बढ़ कर एक कदम चला गया है और खुल कर कहा गया है कि श्रीराम का कोई वंशज है क्या ? ये हिन्दुओ के लिए किसी बड़े आघात से कम नहीं था लेकिन कानून , न्यायपालिका , व्यवस्थापिका और विधायिका का सम्मान राष्ट्र का सम्मान मान कर हिन्दू समाज खामोश रहा और अभी भी फैसले की प्रतीक्षा कर रहा है.. लेकिन वही श्रीराम के वंशजो का प्रमाण मांगने का दांव अब उल्टा पड़ता दिखाई दे रहा है क्योकि सामने आने लगे हैं श्रीराम के वंशज .

विदित हो कि श्रीराम के वंशज का दावा एक राजघराने के करने एक बाद पूरा अग्रवाल समाज सामने आया है और उन्होंने बाकयदा प्रधान न्यायाधीश को चिट्ठी लिख कर दावा किया है कि  पूरा का पूरा अग्रवाल समाज ही प्रभु श्रीराम का वंशज है . उन्होंने बाकायदा अपने आराध्य और वंशावली का विवरण देते हुए कहा है कि वो सभी के सभी भगवान श्रीराम के वंशज हैं .. इन तमाम श्रीराम के वंशजो के सामने आने के बाद अब अदालत को इसका संज्ञान लेना चाहिए ऐसी सबकी अपेक्षा है .


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share