अमित शाह ने कहा कि जम्मू कश्मीर के लिए हम जान भी दे देंगे..

गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कांग्रेस को कश्मीर मुद्दे पर अपना रुख स्पष्ट करने के लिए कहा कि सरकार के नेता राज्य के लिए अपनी जान भी देने के लिए भी तैयार हैं.

उन्होंने संविधान में उल्लिखित अनुच्छेद पढ़कर बताया है कि जम्मू एवं कश्मीर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर सहित भारत का अभिन्न अंग है. लोकसभा में प्रस्ताव और विधेयकों को चर्चा और पारित कराने के लिए पेश करते ही अमित शाह ने कहा कि यह राजनीतिक मुद्दा नहीं है और यह कानून संवैधानिक और कानूनी प्रावधानों पर आधारित है.

जहां जम्मू एवं कश्मीर को दिए गए विशेष दर्जे को रद्द करने का प्रस्ताव राष्ट्रपति के एक आदेश से संबंधित है, वहीं जम्मू एवं कश्मीर पुनर्गठन विधेयक 2019 राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने का प्रावधान देता है. राष्ट्रपति के आदेश ने अनुच्छेद 370 के तहत उन प्रावधानों को निरस्त कर दिया गया है.


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share