बार बार भाषणों की अडानी – अम्बानी का आरोप लगाने वाले ध्यान दे.. रिलायंस ने कांग्रेस नेता पर दायर किया 5 हजार करोड़ का मुकदमा

किसी के ऊपर कीचड़ उछालना, किसी पर बिना तथ्य और सूबूत के झूठे आरोप लगाना, ये सब कांग्रेस को बड़ा भाता है. राजनीति में ऐसे आरोप रोज दिन लगते है और जब बात सूबूत पेस करने कि होती है तो मुद्दा नदारद हो जाता है. आपको याद दिला दे कि आरोप एक जय शाह पर भी लगा था पर अब आरोप लगाने वाले चुप है क्योंकि उनसे सूबूत की मांग की गई.

ऐसे ही आरोपों का पहाड़ हमेशा रिलायंस अनिल अंबानी ग्रुप के सामने रखा गया है पर जब बात सुबूतों पर आन पड़ती है तो लोग कन्नी काटने लगते है और अब रिलायंस अनिल अंबानी ग्रुप ने उनको जवाब देने का फैसला लिया है.

ज्ञात हो कि रिलायंस अनिल अंबानी ग्रुप ने कांग्रेस स्पोक्सपर्सन अभिषेक मनु सिंघवी के खिलाफ 5000 करोड़ रुपए का मानहानि का केस किया है. कंपनी सोर्सेस के मुताबिक, सिंघवी ने ग्रुप के खिलाफ झूठे, अपमानजनक और बदनाम करने वाले बयान दिए हैं. इसलिए हमने 5000 करोड़ का मानहानि का मुकदमा किया है.’ ये केस गुजरात हाईकोर्ट में दाखिल किया गया है.
आपको बता दें कि सिंघवी ने 30 नवंबर को कहा था कि फाइनेंस मिनिस्टर अरुण जेटली ये कहकर लोगों को मूर्ख बना रहे हैं कि सरकार ने किसी भी बड़े डिफाल्टर का लोन माफ नहीं किया है.

कांग्रेस स्पोक्सपर्सन सिंघवी ने आरोप लगाया था, “हम सभी जानते हैं कि टॉप 50 कॉरपोरेट्स का बैंकों पर 8.35 लाख करोड़ रुपया बकाया है. इनमें गुजरात की तीन टॉप कंपनियां रिलायंस (अनिल अंबानी ग्रुप), अडानी और एस्सार पर 3 लाख करोड़ रुपए बकाया है. इन सभी को नॉन प्रॉफिटेबल असेट (NPAs) घोषित करने की बजाय फाइनेंस मिनिस्टर राफेल डील जैसे डिफेंस कॉन्ट्रैक्ट देकर मदद कर रहे हैं.”

Share This Post

Leave a Reply