Breaking News:

एक और आवाज भारत की सेना के खिलाफ.. चुनाव से पहले फिर पाकिस्तान परस्ती और निशाना विंग कमांडर अभिनंदन पर

आने वाला चुनाव भारत में हैं लेकिन बयान वो दिए जा रहे हैं जिस से या तो पाकिस्तान खुश हो सकता है और या तो पाकिस्तान परस्त .. आखिर भारत की फ़ौज पर जब चुनाव आयोग ने सियासत करने से मना कर दिया है तो फिर उसके खिलाफ बोलना आचार संहिता का उल्लंघन क्यों नहीं माना जा रहा है . इतना ही नहीं धर्म के नाम पर भी वोट की राजनीति की मनाही है लेकिन फिर भी वो खुल कर हिन्दुओ की आस्था के केंद्र प्रभु श्रीराम और उनके मन्दिर की बात अपनी राजनीति के स्वार्थो की पूर्ति में कर रहा है .

मुस्लिम नेता ने खामोश किया बाबरी के पैरोकारों को… बाबरी को मस्जिद मानने से किया इंकार

अपने पाकिस्तान परस्त बयानों के लिए कुख्यात फारुख अब्दुल्ला ने एक बार फिर से उगला है जहर.. ये वही अब्दुल्लाह हैं जिनकी पार्टी एक एक अन्य नेता ने अभी ये कहा था कि जो पाकिस्तान को एक बार गाली देगा वो उसको 10 बार गाली देंगे . अब अपने उसी सहयोगी कार्यकर्ता के बयानों पर माफ़ी मांगने के बजाय उन्होंने उस से भी आगे निकलने का फैसला किया है . अपने जहरीले बयानों में उन्होंने संभावित रूप से भारत के नए राष्ट्रीय हीरो विंग कमांडर अभिनंदन की तरफ इशारा करते हुए कहा कि उन्हें नहीं लगता है कि हनुमान बन कर गया कोई पाकिस्तान को हरा कर चला आया है .

26 मार्च- भारतीय फ़ौज के बलिदान से आज ही बंगलादेश अलग हुआ पाकिस्तान से.. वो बंगलादेश जहाँ हो रहा हिंदुओं का नरसंहार और भारत में ही भेज रहा आतंकी

फारुख अब्दुल्लाह ने भारत की सेना के शौर्य पर सवाल उठाते हुए कहा है कि उनको वो लाशें देखनी है जो भारत की वायुसेना ने पाकिस्तान में बम बरसा कर गिराई हैं . आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में एक कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे अब्दुल्ला ने कहा, “अगर 300 लोग मारे गए हैं (बालाकोट हवाई हमले में), तो क्या यह अंतरराष्ट्रीय हादसा नहीं होगा? और जो भी इस पर सवाल उठाता है तो क्या वह राष्ट्र-विरोधी है या वह पाकिस्तानी है?

लोकसभा में फिर उठी मांग.. तत्काल बने जनसंख्या नियन्त्रण कानून और उल्लंघन करने वालों की छीनी जाएँ सभी सुविधाएँ

Share This Post