अपने कुछ समर्थको को राजनीति में आता देख कर दुस्साहसिक हुए नक्सली.. हमले में देश के 15 योद्धा फिर वीरगति को प्राप्त

जिस कथित टुकड़े टुकड़े गैंग ने देश के सैनिको के खिलाफ आये दिन जहर उगला है , जो अचानक ही एक सैनिक को ले कर देशभक्ति दिखा रहे हैं लेकिन उनके इतिहास में स्वघोषित मानवाधिकार के नाम पर केवल सैनिक के खिलाफ बयानबाजी और मुकदमे आदि थोपना रहा है , उनमें से कुछ को राजनीति के अखाड़े में दांव पेंच लगाते देख कर दुस्साहसिक नक्सलियों के दुस्साहस और भी बढ़ते दिखाई दे रहे हैं और उन्होंने अपने दुस्साहस को आगे बढाते हुए किया है एक और हमला ..

भाजपा को वोट देकर लौट रहे दलित परिवार पर उन्मादियों का हमला… नफरत की राजनीति ले रही खूनी रंग

विदित हो कि ताजा हमला महाराष्ट्र के गढ़चिरौली इलाके में हुआ है जहाँ पर घात लगाए नक्सलियों ने CRPF की एंटी नक्सल टीम C 60 पर हमला किया और ब्लास्ट से एक पूरे वाहन को उड़ा दिया है . अचानक ही हुए इस हमले से अफरातफरी मच गई और जब तक जवान इन नक्सलियों से मोर्चा लेने के लिए खुद को तैयार करते तब तक इस ब्लास्ट की चपेट में आते हुए राष्ट्र के 15 जांबाज़ योद्धा वीरगति को प्राप्त हो चुके थे . धमाका इतना तेज था कि सैनिको का वाहन कई फुट दूर जा कर गिर गया .

अहमद को अपना कार्यकर्ता बहुत विश्वास से बनाया था भाजपा ने.. अब वही बना पूरे एक प्रदेश में उनके लिए आफत

फिलहाल इस दुस्साहसिक हमले के बाद अब केन्द्रीय सत्ता पर दबाव है नक्सलियों को उन्ही की भाषा में जवाब देने का .. सबसे हैरानी की बात ये है कि सोशल मीडिया पर इस हमले कीं निंदा उन्हें भी करते देखा जा रहा है जो दबी जुबान से नक्सल समर्थक माने जाते हैं और JNU के संदिग्धों का समर्थन करते देखे गये हैं जो सैनिको पर आरोप लगाना अपने संवैधानिक अधिकारो में गिनते है और मानवाधिकार के नाम पर कभी कश्मीर में सेना के और कभी नक्सल प्रभावित इलाको में CRPF के खिलाफ लिखते और बोलते दिखाई देते हैं .

चंदौली पुलिस को मिली बडी़ सफलता, 15000 रुपए का इनामियां लुटेरा अभियुक्त गिरफ्तार, कब्जे से एक अदद तमंचा व कारतूस बरामद

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post