मोदी सरकार की देवी स्वरूपा बच्चियों के लिए एक और योजना घोषित हुई "हराम" .. - Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar -

Breaking News:

मोदी सरकार की देवी स्वरूपा बच्चियों के लिए एक और योजना घोषित हुई “हराम” ..


ये योजना बच्चियों के लिए बनी थी . उन बच्चियों के लिए जो हिन्दू समाज में देवी स्वरूपा मानी जाती हैं और उनको नवरात्री में दुर्गा माता का रूप मान कर पूजा जाता है . लेकिन उनके कल्याण के लिए बनी योजना को सीधी सीधे सिरे से ख़ारिज करते हुए उसको हराम घोषित कर देने के बाद इतना सवाल तो जरूर उठना शुरू हो गया है कि क्या ऐसे हराम आदि का प्रयोग करने वाले कट्टरपंथी सच में संविधान आदि को सबसे ऊपर मानते हैं और देश के कानून में कभी भी खुद को ढाल पायेंगे ?

असली हिन्दू कौन है अब इसे बतायेंगी कांग्रेस की नूरी खान.. और जानिये उन्होंने किस को बताया सच्चा हिन्दू ? क्या आप भी मानेगे उन्हें ?

कोरोना से पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

जमीयत उलेमा ए हिंद का इदारा मुबाहिश फिकहीया के तीन दिवसीय सम्मेलन में नरेन्द्र सरकार के माध्यम से लड़कियों के लिए लांच की गई सुकन्या समृद्धि योजना को ब्याज आधारित होने के कारण नाजायज (अवैध) करार दिया गया.. सम्मलेन के सरे चरणों का संचालन मौलाना अब्दुर्रज़्ज़ाक़ अमरोही और मुफ़्ती मोहम्मद अफ्फान मंसूरपुरी ने किया, जबकि मौलाना मुइज़ुद्दीन अहमद ने सारे प्रोग्राम की व्यवस्था संभाली ..

28 साल की लड़की को भगा ले गया मौलवी… मौलवी की उम्र है 70 साल

जमीयत उलेमा ए हिंद का इदारा मुबाहिश फिकहीया का तीन दिवसीय सम्मेलन मदनी हाल केंद्रीय कार्यालय जमीयत उलेमा ए हिंद नई दिल्ली में विभिन्न चरणों में संपन्न हुआ था । जिसकी अलग अलग पालियों की अध्यक्षता मौलाना कारी सैयद मोहम्मद उस्मान मंसूरपुरी अध्यक्ष जमीयत उलेमा ए हिंद मौलाना हबीबुर्रहमान खैराबादी मुफ्ती आजम दारुल उलूम देवबंद, मौलाना नेमतुल्लाह आजमी अध्यापक हदीस दारुल उलूम देवबंद, मुफ्ती सईद अहमद पालनपुरी शेख उल हदीस दारुल उलूम देवबंद ने की।

अपना मकान हर किसी को दे देती थी वो.. असल में वो सेक्यूलर थी और अब जला दी गई उसकी बेटी आमिर के हाथों


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share