बॉर्डर पर जीप चला चला कर नवाब खां गाता था देशभक्ति के गीत .. लेकिन वही निकला असल गद्दार

वो घूम घूम कर सबको देशभक्ति का पाठ पढ़ाया करता था, वो भारत की सीमाओं पर जीप चला कर भारत के ही पैसे से अपना और अपने परिवार का पेट भरता था लेकिन असल में वो था कुछ और ही जो किसी ने सोचा भी नहीं था . उसका असली रूप सामने आने के बाद उसके पास पड़ोसियों और उसके इलाके वालों के साथ साथ उनके ग्राहकों में भी अब अंदर ही अन्दर कानाफूसी शुरू हो गयी है कि अब आखिर किस पर किया जाय विश्वास और कैसे .. देश का एक और गद्दार पंहुचा है सलाखों के पीछे .

मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से आ रही खबरों के अनुसार विगत रविवार को राजस्थान की राजधानी जयपुर से आई ख़ुफ़िया एजेंसियों की एक विशेष टीम ने राजस्थान की पाकिस्तान से लगी सीमा जैसलमेर के सम इलाके की गांगा बस्ती में एक गद्दार को खोज निकाला जिसका नाम नवाब खान है . उस के घर पर बेहद सधे अंदाज़ में दबिश दी गयी और संदिग्ध को सुरक्षा एजेंसियां से पूछताछ के लिए अपने साथ जयपुर ले गई हैं .

अब तक मिल रही जानकारी के अनुसार भारत पाकिस्तान सीमा पर जीप चला कर दूसरों से खुद को देशभक्त बताने वाला ये नवाब खान पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के लिए काम करता था . जैसलमेर पर सीमा सुरक्षा बल BSF की टुकडियां तैनात हैं ..इस मामले में अब तक यह भी सामने आया है कि कुछ दिन पूर्व नवाब खान का परिवार पाकिस्तान जाकर आया था.. विश्व प्रसिद्ध सम के धोरों में जीप सफारी करने के लिए दुनियाभर से सैलानी आते हैं। कई दिनों से नवाब की गतिविधि संदिग्ध लगने पर सुरक्षा एजेंसियां उस पर निगरानी रख रही थी। रविवार को विशेष टीम उसके पास जीप सफारी का ग्राहक बनकर पहुंची थी और उसको आख़िरकार दबोच ही लिया .

 

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW