Breaking News:

श्रीराम के सभी विरोधियो को बताया राक्षसों का वंशज.. चर्चित मुस्लिम नेता के बयान का हर तरफ स्वागत

भले ही कुछ छद्म लोग अपने स्वार्थो की पूर्ति के लिए भगवान श्रीराम के विरोधी बन कर खुद को बड़ा समझ रहे हों लेकिन श्रीराम के जिस प्रकार से अपमान की बातें अदालत से निकल कर बाहर आ रही हैं वो न सिर्फ हिन्दुओ को बल्कि उन मुसलमानों को भी पीड़ा दे रहीं हैं जिन्हें बेहतर ढंग से पता है कि उनका इतिहास क्या था और उनके पूर्वज कौन थे.. उन मुस्लिमो को पीड़ा हो रही है जिनको पता था कि उनका बाबर से दूर दूर तक कोई वास्ता नहीं है .

उन्ही में से एक हैं शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिज़वी . इन्होने वैदिक रूप में व्याख्या करते हुए देव और दानव दोनों संस्कृतियों को सामने रखा और कहा कि देवताओ के जो भी विरोधी हुआ करते थे वो दानव के रूप में चर्चित होते थे .. इसीलिए जो भी आज प्रभु श्रीराम के विरोध में खड़े हैं ये उनके तत्कालीन समय में विरोधी रहे राक्षसों के पूर्वज हैं . वसीम रिजवी के इस बयान को सोशल मीडिया पर खूब समर्थन मिल रहा है और कुछ गिने चुने कट्टरपन्थियो को छोड़ कर हर तरफ इसका स्वागत किया जा रहा.

अयोध्या में श्रीरामजन्मभूमि मामले में अपना एक वीडियो जारी कर वसीम रिजवी ने कहा है कि पाकिस्तान के आतंकी संगठनों से जो फंड आते हैं, उसमें से बड़ा हिस्सा बाबरी मस्जिद के पक्षकारों को भी दिया जा रहा है. इसी फंडिंग से अयोध्या केस में मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन को पैसे दिए गए हैं. इसलिए राजीव धवन वहीं बोले रहे हैं जो उनसे कहा गया है।इतना ही नहीं वीसम रिजवी का ये भी कहना है कि जिन राक्षसों का वध श्रीराम ने किया था उनकी ही औलादें आज भगवान श्रीराम को नकार रही हैं. रिजवी ने कहा कि अयोध्या में राम जन्मभूमि पर बनी इमारत कभी भी एक जायज मस्जिद नहीं थी, वह इमारत मुगलों का एक गुनाह थी।

Share This Post