Breaking News:

“देश बंटवाते समय ये क्यों भूल गये थे नेहरु कि सीमा से मात्र 2 किलोमीटर दूर था हमारा करतारपुर”- केन्द्रीय मंत्री


इतिहास की वो भूल जो आये दिन किसी न किसी के मुह से एक दर्द बन कर निकल ही जाती है वो फिर से निकली है एक केन्द्रीय मंत्री के द्वारा और उठाया है ऐसा सवाल जिसका जवाब शायद ही कोई दे पाए . मात्र २ किलोमीटर सीमा के उस पार अपना एक पवित्र स्थल रह जाने के लिए पाकिस्तान की अनुमति लेने की विडम्बना पर केन्द्रीय मंत्री के सवाल ने सबको निरुत्तर कर दिया है जो पाकिस्तान के गुण गा रहे कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को सम्बोधित था .

ये दर्द बयान किया है केन्द्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने .. हरसिमरत बादल ने कहा है कि नवजोत सिद्धू इमरान खान से दोस्ती निभा रहे हैं। हरसिमरत कौर ने कहा कि वह पाक एजेंट हैं और निश्चित रूप से उन्हें पाकिस्तान के बारे में बोलना ही होगा। बादल ने पंजाब के बंटवारे के लिए पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को जिम्मेदार ठहराया है। हरसिमरत कौर ने कहा कि अगर पंजाब का विभाजन हुआ, तो ये जवाहरलाल नेहरू का निर्णय था, ये सीमा 2 किमी और अधिक हो सकती थी।

उन्होंने कहा कि सिखों को दबाने और उनका मनोबल तोड़ने के लिए जवाहरलाल नेहरू ने पंजाब को विभाजित कर दिया। इसके बाद आकर इंदिरा गांधी ने स्वर्ण मंदिर पर हमला किया..इतना ही नहीं , राजीव गांधी को भी निशाने पर लेते हुए उन्होंने कहा कि फिर राजीव गांधी आए और उन्होंने राजनीतिक कारणों से सिखों का नरंसहार किया। अब राहुल गांधी आए हैं और वे पूरी तरह से पाकिस्तान की भाषा बोल रहे हैं।. फिलहाल सिद्धू की  तरफ से उनकी पत्नी  ने मोर्चा सम्भाल रखा है .


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share