दिल्ली के हवाई अड्डे पर रोहिंग्या गिरफ्तार.. घातक असर दिखा रही नकली धर्मनिरपेक्षता


जिस कथित धर्मनिरपेक्षता तथा मानवाधिकार की आड़ में तमाम कथित बुद्धिजीवी म्यांमार में बौद्धों तथा हिन्दुओं के हत्यारे रोहिंग्या घुसपैठियों की पैरोकारी करते हैं, वो अब देश के लिए नासूर बनती जा रही है. आये दिन देश के तमाम हिस्सों से कभी रोहिंग्या तो कभी बांग्लादेशी उन्मादी घुसपैठियों की गिरफ्तारी की ख़बरें सामने आती रहती हैं. इस बीच देश की राजधानी दिल्ली इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से भारतीय पासपोर्ट पर इंडो‍नेशिया जाने की कोशिश कर रहे म्यांमार मूल के रोहिंग्या घुसपैठिये को गिरफ्तार किया है.

श्रीलंका के बाद अब ईसाई बाहुल्य मुल्क ब्राजील में भीषण हमला, भयंकर गोलीबारी में 11 लोगों की मौत

मामला बुधवार (15 मई) देर रात्रि का है जब IGI एयरपोर्ट से एक रोहिंग्या की गिरफ्तारी की गई. गिरफ्तार किए गए शख्‍स की पहचान मोहम्‍मद फैजल के रूप में की गई है. प्राप्त हुई जानकारी के मुताबिक़, आईजीआई एयरपोर्ट पुलिस ने इस बाबत म्यांमार दूतावास को सूचना देकर आरोपी मोहम्‍मद फैजल के खिलाफ आईपीसी की धारा 180, पासपोर्ट एक्‍ट की धारा 12 और फारनर्स एक्‍ट की धारा 14 के तहत एफआईआर दर्ज कर ली है. दिल्‍ली पुलिस, सीआईएसएफ, इमीग्रेशन सहित केंद्रीय खुफिया एजेंसियों की संयुक्‍त टीम आरोपी से पूछताछ कर रही है.

20 मई- 2001 में आज से अफगानिस्तान में हिन्दुओ- सरदारों को फ़रमान जारी हुआ अलग कपड़े पहनने का. फिर हिन्दू- सिख 2 लाख 22 हजार परिवार से घट कर रह गए मात्र 200 घर

एयरपोर्ट सुरक्षा में तैनात वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, आरोपी के कब्‍जे से बरामद दस्‍तावेजों के आधार पर आरोपी की पहचान म्यांमार मूल के मोहम्‍मद फैजल के रूप में हुई है. उन्‍होंने बताया कि आरोपी बुधवार रात्रि मलिंडो एयरलाइंस से इंडोनेशिया जाने के लिए आईजीआई एयरपोर्ट पहुंचा था.इमीग्रेशन जांच के दौरान अधिकारी ने पाया कि पासपोर्ट पर आरोपी का नाम मोहम्‍मद फैजल दर्ज है. जिसमें उसका पता तेलंगाना के राजेंद्र नगर का दर्ज था.

सुदर्शन न्यूज के ExitPoll में NDA को स्पष्ट बहुमत.. एक बार फिर प्रधानमन्त्री बन रहे हैं नरेंद्र मोदी

यह पासपोर्ट हैदराबाद स्थित पासपोर्ट कार्यालय से जारी किया गया था. इमीग्रेश अधिकारी ने पासपोर्ट और वीजा की जांच के दौरान, आरोपी से इंडोनेशिया जाने की वजह पूछी. जिसका आरोपी संतोषजनक जवाब नहीं दे सका. आरोपी के हावभाव को देखकर इमीग्रेशन अधिकारी को शक हुआ, जिसके आधार पर आरोपी को हिरासत में ले लिया गया. आरोपी को हिरासत में लेने के बाद उसके सामान की तलाशी ली गई.

एक और रोहिग्या गिरफ्तार हुआ.. भारत का पासपोर्ट भी मिला और एक इस्लामिक मुल्क जाने की तैयारी भी.. संक्रमित हो रहा राष्ट्र

तलाशी के दौरान, इमीग्रेशन अधिकारियों के हाथों यूनाइटेड नेशन हाईकमीशन ऑफ रिफ्यूजी द्वारा जारी एक सर्टिफिकेट लग गया. जिसमें बताया गया था कि आरोपी मोहम्‍मद फैजल मूल रूप से म्यांमार का नागरिक है. उसने इंडोनेशिया में शरण लेने के इरादे से एक आवेदन यूनाइटेड नेशन्‍स हाईकमीशन ऑफ रिफ्यूजी में दिया हुआ है. मोहम्‍मद फैजल के इस आवेदन पर अभी अंतिम फैसला होना बाकी है. अधिकारी ने बताया कि आरोपी के कब्‍जे से जांच के दौरान भारत का एक आधार कार्ड भी बरामद किया गया है

वो 2 भाई थे जो बार बार धमकी दे रहे थे स्टेशनों को बम से उड़ाने की… पुलिस ने पूछा कि क्यों करते थे ऐसा तो दिया सनसनीखेज जवाब

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share