CRPF का फर्जी जवान बनकर कुछ बुरा करना चाहता था नदीम खान, समय रहते दबोचा गया.. फर्जी हिन्दू बनने के बाद अब फर्जी सैनिक बनने लगे उन्मादी

अभी तक ख़बरें सामने आती थी कि मजहबी उन्मादी फर्जी हिन्दू बनकर, जिहाद के नाम तमाम असामाजिक तथा उन्मादी कृत्यों को अंजाम देते हैं..लेकिन अब उन्मादी इससे भी आगे बढ़ चुके हैं. अब उन्मादी सिर्फ फर्जी हिन्दू ही नहीं बल्कि फर्जी जवान भी बनने लगे हैं. केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल(CISF) ने खुद को सीआरपीएफ का कॉन्स्टेबल बताने वाले एक युवक नदीम खान को दिल्ली की चांदनी चौक मेट्रो स्टेशन से गिरफ्तार किया है.

कभी पति की लाश पर रोती इस नारी पर हंसता था मुख़्तार. आज उसका नाम सुनते ही काँपता है वो. इनका नाम है अलका राय .. “वाराणसी विशेष”

गिरफ्तार हुए नदीम खान के पास से दो आधार कार्ड जिसमें जन्मतिथि अलग-अलग है और एक मोबाइल फोन बरामद किया गया है. आतंकी नदीम खान ने खुद को यूपी के शामली का रहने वाला बताया है और कहा कि वो सीआरपीएफ के प्रशिक्षु थे और वर्तमान में श्रीनगर में सीआरपीएफ आरटीसी मोहन नगर से प्रशिक्षण प्राप्त कर रहा हैं. इसके बाद उसनें आगे की पूछताछ में बताया कि वो शामली में अपनी मां के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए आरटीसी से आया था.

बलात्कार करके उसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल किया तौफीक ने.. एक चुनौती समाज के सब्र को

बद में जब सीआरपीएफ कंट्रोल रूम से पूछने के बाद मोहन नगर आरटीसी से संपर्क किया गया और पूरी बात बताई गई तो वहां से जवाब आया कि उनके आरटीसी में इस नाम का कोई भी प्रशिक्षु मौजूद नहीं था. इसके बाद नदीम खान को दिल्ली पुलिस के हवाले कर दिया गया है. पुलिस फर्जी कॉन्स्टेबल से पूछताछ कर रही है. दिल्ली पुलिस  ये जानने की कोशिश कर रही है कि आखिर CRPF का फर्जी जवान बनने के पीछे नदीम खान का क्या मकसद था? वर्दी की आड़ में नदीम खान किसी खौफनाक कृत्य को अंजाम तो नहीं देना चाहता था?

वर्दी वाले तेज बहादुर के लिए न्याय मांगते कुछ ने ही बर्बाद कर डाला है एक वर्दी वाले सब इंस्पेक्टर शैलेन्द्र सिंह का जीवन.. भीख मांगने की कगार पर है वो परिवार

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

 

Share This Post