भारत से गद्दारी की ट्रेनिंग पाकिस्तान से लेकर आया था जाहिद.. निशाने पर थी भारत की रक्षक सेना

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के खुर्जा से पकड़े गये गद्दार जाहिर के बारे में सनसनीखेज खुलासा हुआ है. सुरक्षा एजेंसियों की पूंछताछ में जाहिद ने कबूला है कि हिन्दुस्तान में तबाही मचाने के लिए वह पाकिस्तान जाकर ISI से ट्रेनिंग लेकर आया था. हिंदुस्तान से सारी सुविधाएं लेकर हिंदुस्तान से ही गद्दारी करने वाले जाहिद से मेंरठ आइबी और एटीएस भी पूछताछ कर रही है. सूत्रों के मुताबिक, इस्लामाबाद स्थित आइएसआइ के मुख्य कार्यालय में सिर्फ तलाशी के बाद उसे सीधी एंट्री दे दी जाती थी. पहली बार जब वह आइएसआइ के संपर्क में आया तो उसे एक सूचना के एवज 50 हजार रुपये भुगतान का प्रलोभन दिया गया.

आरोपित आइएसआइ एजेंट जाहिद पुत्र अलीम को रिमांड पर लेकर पुलिस व कई खुफिया एजेंसियां पूछताछ कर रही हैं. जाहिद ने पूछताछ में बताया कि पाकिस्तान के कराची में रहने वाले उसके रिश्तेदार अतीकुर्रहमान ने 2012 में उसे आइएसआइ एजेंट माजिद से मिलवाया था. जाहिद को बताया गया कि शुरू में उसे 20 हजार रुपये प्रति सूचना मिलेंगे, लेकिन समय के साथ यह रकम भी बढ़ती रहेगी. वर्तमान में उसे एक सूचना के 50 हजार रुपये मिल रहे थे. पूंछताछ में जाहिद ने कहा है कि वह शुरू में आइएसआइ के बारे में कुछ भी नहीं जानता था. उसे इस्लामाबाद स्थित आइएसआइ के कार्यालय में तीन माह की ट्रेनिंग देने के बाद दिसबंर-2012 में वापस भारत भेज दिया गया.

वह 2014 में पाकिस्तान गया तो काफी सूचनाएं साथ लेकर गया था लेकिन आइएसआइ अधिकारियों ने केवल दो सूचनाओं को अपने काम की समझा और उसे एक लाख रुपये दिए. इसके बाद वह भारत लौट आया और सूचनाएं एकत्रित करने लगा. जाहिद ने कई आइएसआइ अधिकारियों के नाम भी पुलिस को बताए हैं. पुलिस से बचने के लिए उसने 2012 में पाकिस्तान से आने के बाद 2014 तक मोबाइल का इस्तेमाल नहीं किया. इसी के चलते वह 2014 में कई सूचनाएं सूटकेस में लेकर पाकिस्तान गया था. बाद में उसके दूसरे रिश्तेदार अतीकुर्रहमान और इजरायल ने मोबाइल से सूचनाएं भेजने को कहा. तभी से वह पाकिस्तान जाने के बजाय मोबाइल से ही सूचनाएं भेज रहा था.

गद्दार जाहिद ने पूछताछ में एक और राज उगला है. उसने बताया कि वह करीब 19 सूचनाएं पाकिस्तान को भेज चुका है, लेकिन उसके एकाउंट में केवल 50 हजार रुपये ही डलवाए गए, बाकी के पैसे नहीं दिए गए. पुलिस व जांच एजेंसियों ने शिफ्टवार अलग-अलग पूछताछ कर जाहिद से उसका पाक कनेक्शन तलाशा. इस दौरान जाहिद से कई महत्वपूर्ण जानकारी मिलना बताया गया है, लेकिन अधिकारी अभी कोई टिप्पणी नहीं कर रहे है. स्वाट टीम व कोतवाली देहात पुलिस ने तीन दिन पहले शुक्रवार की देर रात खुर्जा नगर निवासी जाहिद को भूड़ चौराहे से गिरफ्तार किया था.

Share This Post