भारतीय सैनिकों का दुश्मन बना बैठा था दिल्ली का परवेज.. काम करता था पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के लिए

मोहम्मद परवेज ने हिंदुस्तान की पावन भूमि पर जन्म लिया. वह हिंदुस्तान की माटी में पला-बढ़ा, हिन्दुस्तान की हवा में साँस ली. उसने भारत सरकार की हर उस योजना का लाभ लिया जो जनता के हित में लागू की गई थीं. लेकिन परवेज नमक हलाल नहीं बल्कि नामक हराम निकला. परवेज को जिस हिंदुस्तान से तमाम सुविधाएं तथा लाभ मिलते रहे, पावरजे उसी हिंदुस्तान का दुश्मन बन बैठा. हिंदुस्तान का नमक खाने वाले परवेज के दिल में पाकिस्तान धडकता था. इसके बाद परवेज भारतीय सैनिकों का दुश्मन बन बैठा तथा पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी ISI के लिए काम करने लगा. अब परवेज को राजस्थान पुलिस द्वारा NIA के सहयोग से गिरफ्तार किया गया है.

इस बार पकड़ी गई पाकिस्तान की महिला जासूस.. पड़ोसी मानते थे उसको बेहद शरीफ और इज्जतदार महिला

खबर के मुताबिक़,  राजस्थान पुलिस की स्पेशल टीम और इंटेलिजेंस ने संयुक्त ऑपरेशन के जरिए मोहम्मद परवेज नाम के इस एजेंट को सोमवार देर रात धर दबोचा. परवेज दिल्ली का रहने वाला है और करीब बीस साल से पाकिस्तान के लिए जासूसी करने का काम कर रहा था . 42 साल का परवेज पिछले 18 सालों में 17 बार पकिस्तान जा चुका है और भारत में रहकर सोशल मीडिया पर फर्जी अकाउंट बनाकर भारतीय सैनिको को हनी ट्रैप में फंसाने का काम करता था . परवेज भारतीय सैनिको से गोपनिय जानकारी निकलवाकर आई एस आई को भेजता था और इस काम के लिए आई एस आई की तरफ से परवेज को आर्थिक मदद मिलती थी

बांग्लादेशी, पाकिस्तानी, रोहिंग्या, अफगानी के बाद अब दिल्ली में गिरफ्तार हुआ है चीन का जासूस अब चीनी संक्रमण के जहर से संक्रमित होता भारत…

प्राप्त जानकारी के मुताबिक आई एस आई गोपनीय जानकारी के बदले परवेज को सभी जरुरी मदद उपलब्ध कराती थी. परवेज ने आई एस आई के संपर्क में रहने के लिए कई सिम कार्ड रखे हुए थे और और अलग अलग नम्बरों से पकिस्तान से संपर्क करता था. गिरफ़्तारी के बाद परवेज को जयपुर कोर्ट में पेश किया गया और वहां से पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है.

दीवाली के मौके पर छोड़ दिया गया 16 साल से जेल में बंद पाकिस्तानी जासूस जलालुद्दीन लेकिन 20 साल से उड़ीसा की जेल में बंद दारा सिंह अंतिम सांस तक काटेगा जेल, जो सह नहीं पाया था हिन्दुओं का धर्मान्तरण

Share This Post