Breaking News:

तोते की तरह सच कबूल कर रहे बौद्धों का नरसंहार करने आये आतंकी.. बताया एक अन्य आतंकी के बारे में जो छिपा हुआ था पुणे में

बिहार में बौद्धों के नरसंहार के लिए भेजे गये पटना जंक्शन के पास से गिरफ्तार दोनों बांग्लादेशी इस्लामिक आतंकी NIA की पूंछताछ में तोते की तरह राज उगल रहे हैं. खबर के मुताबिक़, दोनों आतंकियों की निशानदेही पर कल आतंकवाद निरोधी दस्ता (ATS) ने एक और आतंकी शरीयत मंडल को महाराष्ट्र के पुणे से गिरफ्तार किया है. गिरफ्तारी के बाद शरीयत मंडल को महाराष्ट्र ATS ने पुणे की कोर्ट में पेश किया. पेशी के बाद कोर्ट ने शरीयत मंडल को 48 घंटे की ट्रांजिट रिमांड पर बिहार ATS को सौंप दिया है. बिहार ATS शरीयत मंडल को लेकर जल्द ही पटना लेकर आएगी. पटना आने के बाद शरीयत मंडल को कोर्ट में भी पेश किया जाएगा.

“मिशन शक्ति” को लेकर विपक्ष ने पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव आयोग में की थी शिकायत.. अब चुनाव आयोग ने सुनाया ये फैसला

महाराष्ट्र एटीएस और बिहार एटीएस की टीम ने पुणे और पिंपरी चिंचवाड़ से सटे चाकण इलाके से आतंकी शरीयत को गिरफ्तार किया है. पूरे ऑपरेशन को कामयाब बनाने में एनआइए का भी खासा योगदान रहा है. गिरफ्तारी के बाद शरीयत को महाराष्ट्र के अदालत में पेश किया गया. इसके बाद उसे महाराष्ट्र के कोर्ट ने ट्रांजिट रिमांड पर बिहार ATS को सौंप दिया. आतंकी शरीयत मूल से रूप से पश्चिम बंगाल के नादिया जिला के हासखली थाना क्षेत्र वाजिदपुर का रहने वाला है.

एयरस्ट्राइक के सबूत मांगने वालों पर भड़के पीएम मोदी, बोले- पाक अभी तक लाशें गिनने में लगा है, ये हमसे सबूत मांग रहे

आतंकी शरीयत से ATS ने पूछताछ पर खुलासा किया है कि वह पटना में गिरफ्तार आतंकवादी अबु सुल्तान और खैरूल मंडल से संपर्क में बना हुआ था. शरीयत के पास से दो मोबाइल के अलावा एक एसडी कार्ड बरामद हुआ है. यह आतंकी इस्लामिक स्टेट बांग्लादेश का एक सक्रिय सदस्य था तथा पटना में गिरफ्तार दोनों आतंकियों की तरह यह भी ISIS से जुड़ने सीरिया जाने की फिराक में था.

इस बार “मोदी है तो मुमकिन है” बोला ऐसी पार्टी ने, जिससे कभी कांग्रेस ने लगा रखी थी तमाम आशा

Share This Post