दुर्दांत आतंकियों को क्यों रास आ रहा बिहार ? क्या जिहाद केवल कश्मीर तक था, ये सवाल खड़ा हुआ एक गद्दार की गिरफ्तारी से


पिछले कुछ सालों से देखा जाए तो दुर्दांत इस्लामिक आतंकियों को बिहार बहुत रास रहा है. कई इस्लामिक आतंकियों की बिहार से गिरफ्तारी हो चुके है. अभी तक सोचा जाता था कि मजहब के नाम पर, जिहाद के नाम पर आतंक सिर्फ कश्मीर तक ही था लेकिन जिस तरह से कश्मीर के अलावा देश के अन्य हिस्सों खासकर बिहार से इस्लामिक आतंकियों की गिरफ्तारी हुई है, वो चिंताजनक है.

खबर के मुताबिक़, भगवान बुद्ध की ज्ञान स्थली बिहार के गया से पुलिस ने आज पाकिस्तान के इस्लामिक आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी तौफीक रजा उर्फ एजाज अहमद को गिरफ्तार किया है. पुलिस सूत्रों ने बताया कि पश्चिम बंगाल पुलिस को यह इनपुट मिली थी कि तौफीक गया जिले के मानपुर प्रखंड के बुनियादगंज बाजार के निकट अपनी पहचान छुपाकर कुछ वर्षों से रह रहा है. इसी आधार पर पश्चिम बंगाल के विशेष कार्यबल (एसटीएफ) के साथ आये बंगाल आतंक निरोधक दस्ता (एटीएस) की टीम ने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर उसके घर की रेकी की.

सूत्रों ने बताया कि तौफीक की सही पहचान करने के बाद आज उसके बुनियादगंज बाजार स्थित घर की घेराबंदी की गई. इसके बाद तौफीक को गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तार तौफीक के पास से कई आपत्तिजनक सामान भी बरामद किये गये हैं. सूत्रों ने बताया कि तौफीक वर्ष 2007 से ही आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के  लिए काम कर रहा है. पुलिस यह भी पता लगा रही है कि तौफीक के संपर्क में कौन-कौन से स्थानीय लोग थे और तौफीक कहीं अपने संगठन के विस्तार के  लिए स्लीपर सेल (संगठन से लोगों को जोड़ने) बनाने के इरादे से तो यहां छुपकर नहीं रह रहा था. इसे लेकर पुलिस जांच में जुटी है.

गौरतलब है कि गया हमेशा से आतंकवादियों के निशाने पर रहा है. 05 जुलाई 2013 को गया जिले के बोधगया स्थित महाबोधि मंदिर में सिलसिलेवार बम विस्फोट किये गये थे. इस विस्फोट में कई लोग घायल हो गये थे जबकि कई बमों को बरामद कर निष्क्रिया किया गया था. महाबोधि मंदिर बम विस्फोट मामले में बाद में हैदर अली, अजहरुद्दीन कुरैशी, उमर सिद्दीकी, इम्तियाज अंसारी और मुजिबुल्लाह को गिरफ्तार किया गया था. इन आतंकवादियों को न्यायालय ने उम्रकैद की सजा सुनाई है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...