Breaking News:

हरियाणा में गिरफ्तार हुआ है पाकिस्तानी.. आखिर कौन बुलाया था उसे 3 साल में 9 बार ?

हरियाणा के अंबाला में क्राइम इनवेस्टिगेशन एजेंसी-2 पुलिस (सीआईए-2) ने पाकिस्तानी जासूस अली मुर्तजा को गिरफ्तार किया है. सीआईए-2 पुलिस ने मुर्तजा को ड्यूटी मैजिस्ट्रेट के घर पेश किया जहां से उसे न्यायिक हिरासत में सेंट्रल जेल अंबाला भेज दिया गया. बता दें अंबाला सुरक्षा की द्रष्टि से बेहद ही संवेदनशील जगह है जहाँ सेना की छावनी होने के साथ साथ कई महत्वपूर्ण जगह हैं, यहां एक फाइटर एयरबेस भी हैं. बताया गया है कि पाकिस्तानी जासूस अली मुर्तजा 3 साल में तीन साल में भारत आ चुका है.

पवित्र वेदों, रामायण व श्रीमद्भागवत गीता का विरोध करने वाले अर्बन नक्सली अपने घरो में रखते थे ये किताब.. जानिए किस के भक्त थे वो वामपंथी ?

अली मुर्तजा ने पूछताछ में जांच एजेंसियों को बताया है कि कि जब वह पिछली बार भारत आया था तो वह एक सिम लेकर पाकिस्तान गया था जो उसने पाक सेना को दे दिया था. पाक सेना ने इस सिम का दुरुपयोग किया था. पुलिस अधीक्षक अभिषेक जोरवाल के मुताबिक स्वतंत्रता दिवस को लेकर हाईअलर्ट के चलते पुलिस ने चेकिंग दौरान 14 अगस्त की रात को रेलवे स्टेशन के पास एक पाकिस्तानी नागरिक को पकड़ा था.

विपक्ष ही नहीं बल्कि अपने खुद के मंत्रियों पर भी मोदी का न्यायचक्र .. एक नया और बेहद सधा आदेश मंत्रियों के लिए

पुलिस अधीक्षक जोरवाल ने बताया कि पुलिस के सीआईए-2 स्टाफ को सूचना मिली थी कि एक संदिग्ध व्यक्ति रेलवे स्टेशन से सेना क्षेत्र में घुसने की फिराक में हैं, संदिग्ध शख्स ने काले रंग की लोअर ओर टी-शर्ट पहन रखी है. सूचाना मिलने के बाद सीआईए-2 सतर्क हो गया और उसने इस व्यक्ति को हिरासत में ले लिया. तलाशी के दौरान पुलिस को मुर्तजा के पास से एक मोबाइल, कुछ सिम ओर एक बैग बरामद हुआ. इसके दस्तावेज जांचने पर यह पता लगा कि इस पाकिस्तानी के पास अंबाला का वीजा नही था जबकि हिंदुस्तान के कुछ अन्य शहरों का वीजा मिला है. पुलिस अधीक्षक जोरवाल के मुताबिक पूछताछ करने पर अली मुर्तजा ने बताया कि वे हैदराबाद भी गया था.

भारत को धर्मों और जातियों में बंटा बताने की साजिश रचने वाली विदेशी मीडिया खुद बंटी है किस – 2 में ये LIVE देखा दुनिया ने..

एसपी अंबाला अभिषेक जोरवाल ने बताया, मुर्तजा के पास से तीन भारतीय सिम बरामद किए गए हैं. इनमें दो सिम एक्टिव है जबकि एक सिम एक्टिव नहीं है. उन्होंने कहा कि आरोपी लगातार अंबाला आ रहा था. 2016 के बाद से वह अब तक 9 बार अंबाला आ चुका है.  जोरवाल ने कहा कि पिछली बार जब वह पाकिस्तान गया था तो उसने पाक आर्मी को एक भारतीय सिम दिया था. इस सिम के  पाक सेना ने भारत के सुरक्षा बलों के बारे में जानकारी लेने की कोशिश थी.

 

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–

Share This Post