Breaking News:

26 जनवरी से पहले वो दहलाने वाले थे दिल्ली को.. दोनों इस्लामिक आतंकी दल हिजबुल से थे

         “आतंकियों के पास से 1 पिस्टल और 14 जिंदा कारतूस मिले हैं. गिरफ्तार एक आतंकी का नाम किफायतुल्लाह बुखारी है                                         और दूसरा आतंकी अभी नाबालिग है. दोनों  गणतंत्र दिवस पर बड़ा धमाका करने की फिराक में थे.”

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल औऱ जम्मू कश्मीर SOG के ज्‍वाइंट ऑपरेशन में शोपियां से हिजबुल मुजाहिदीन के दो आतंकियों को पकड़ा गया है. दोनों पकड़े गए आतंकीयों में एक किफ़ायतुल्ला बुखारी और एक नाबालिग है. बताया गया है कि आतंकी किफायतुल्लाह बुखारी 2017 तक जम्मू कश्मीर पुलिस में था. इसी दौरान वह  हिजबुल मुजाहिद्दीन के कमांडर के सम्पर्क में आया तथा फिर स्वयं भी आतंकी बन गया. दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के मुताबिक उतरी भारत से हथियार लेने वाले आतंकियों की पहचान की कोशिश कर रही थी, उसी दौरान जांच में पता चला कि हिजबुल और ISIS के कुछ आतंकी उत्तर भारत से हथियार लेकर जम्मू कश्मीर और दिल्ली में तबाही मचाने की कोशिश में है.

पुलिस के मुताबिक़, इसके बाद शोपियां पुलिस के सहयोग ने दोनों आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया. सूत्रों के मुताबिक स्पेशल सेल ऐसे लोगों की पहचान कर उन्हें पकड़ने में लगी हुई है जो आईएसआईएस और हिमजुल मुजाहिद्दीन के आतंकी है. यह लोग नार्थ इंडिया और दिल्ली में वारदात करने की प्लानिंग जम्मू कश्मीर में कर रहे है. गिरफ्तार दोनों आतंकी के पास से एक पिस्टल और 14 जिंदा कारतूस मिले है. गिरफ्तार आतंकी नवीद बाबू नाम के एक शख्स के सम्पर्क में थे.

           नवीद जम्मू कश्मीर पुलिस में कांस्टेबल था पर फिलहाल यह हिजबुल का जिला कमांडर है. इस ऑपरेशन में नवीद बाबू                                        के एक ऐसे ठिकाने की पहचान भी हो गई है जिसमें चार से पांच आतंकियों के छुपने की जगह भी थी.

ज्ञात हो कि इससे पहले 6 सितंबर 2018 को दो आतंकी परवेश राशिद और जमसीद को लाल किले के पास से गिरफ्तार किया गया था और 24 नवम्बर 2018 को तीन आतंकी ताहिर, हरीस और आसिफ को स्पेशल सेल की जा जानकारी के बाद जम्मू कश्मीर में ग्रनेड के साथ गिरफ्तार किया था. ये दोनों आतंकी पूरी ट्रेनिंग के साथ दिल्ली आये थे तथा गणतंत्र दिवस पर देश की राजधानी दिल्ली को लहूलुहान करना चाहते थे.

Share This Post