क्या वो सभी धर्मों का सम्मान करेगा जो मंदिर में देवी मूर्तियों के ऊपर उतारता दिखा हवस.. गिरफ्तार हुआ मुजीबुर रहमान

याद होगा कि जब फ्रांसीसी पत्रिका शार्ली एब्दो ने इस्लामिक पैगंबर मोहम्मद का एक कार्टून चाप दिया था, इसके बाद सिर्फ फ़्रांस ही नहीं बल्कि दुनियाभर के मुस्लिम भड़क उठे थे तथा सड़कों पर उतर आये थे. भारत में शार्ली एब्दो के इस कार्टून के बाद मुस्लिमों में जबरदस्त रोष देखा गया था तथा देशभर में विभिन्न जगहों पर मुस्लिमों ने जमकर हंगामा तथा प्रदर्शन किया था. लेकिन शायद ये गुस्सा सिर्फ सिर्फ इस्लामिक आस्थाओं तक ही सीमित था क्योंकि जब तमिलनाडु में इस्लामिक उन्मादी मुजीबुर रहमान ने हिन्दू आस्थाओं को सरेआम कुचला तो शार्ली एब्दो पर हंगामा करने वालों ने मौन साध लिया है.

12 जून: बलिदान दिवस “बाबासाहब नरगुन्दकर” जो 1857 के स्वातंत्र्य समर में अत्याचारी “जेम्स मेंशन” की बलि चढा कर आज ही झूले थे फांसी पर

खबर के मुताबिक़, तमिलनाडु की त्रिची पुलिस ने मुजीबुर रहमान नामक एक 28 वर्षीय व्यक्ति को अश्लील तस्वीरें पोस्ट करने के आरोप में शनिवार 8 जून को गिरफ़्तार किया है. उसने तंजावुर (तंजौर) स्थित बृहदेश्वर मंदिर में एक हज़ार साल पुरानी वास्तुकला की प्राचीन मूर्तियों के साथ अश्लील मुद्रा में फ़ोटो खिंचवाई थी. भारत के सबसे महान और सबसे पुराने मंदिरों में से एक बृहदेश्वर मंदिर में देवी की मूर्तियों के साथ अश्लील फ़ोटो खिंचवाने पर जनता और हिन्दू संगठन के कार्यकर्ताओं ने कड़ी आपत्ति दर्ज करते हुए मुजीबुर रहमान के ख़िलाफ़ पुलिस में शिक़ायत दर्ज कराई, जिसके बाद रहमान को गिरफ़्तार कर लिया गया.

पैसे का लेनदेन रखने वाले सेक्यूलरों पर मौत की आफत.. अलीगढ़ में ट्विंकल के बाद अब मेरठ में बलबीर की गर्दन रेत डाली गई 1 हजार के चक्कर में

मुजीबुर रहमान ने सिर्फ मूर्तियों के साथ अश्लील मुद्रा में सिर्फ तस्वीरें ही नहीं खिंचवाई बल्कि उनको सोशल मीडिया पर फेसबुक पर भी शेयर कर दिया.  इन तस्वीरों में उसे तंजावुर स्थित बृहदेश्वर मंदिर में देवी की मूर्तियों का चुंबन लेते हुए और गले लगते हुए देखा जा सकता है. इसके अलावा अपने फेसबुक पोस्ट में, रहमान ने कुछ भद्दे कमेंट्स भी किए थे. त्रिची पुलिस के अनुसार, रहमान, जो मूल रूप से मदुरै के ओथककदाई इलाक़े का रहने वाला है, वो त्रिची में एक फूड डिलीवरी बॉय के रूप में काम करता है. ईद के अवसर पर उसने बुधवार (5 जून) को तंजावुर स्थित बृहदेश्वर मंदिर का दौरा किया और देवी की मूर्तियों के साथ आपत्तिजनक तस्वीरें लीं.

बुलेरो में उठा ले गये एक महिला को शाहरुख निसार व 5 अन्य मिल कर और बेहोश होने तक किया बलात्कार.. असर दिखा रही नकली धर्मनिरपेक्षता

हमान के ख़िलाफ़ आईपीसी की धारा 295 के तहत किसी भी वर्ग के धर्म का अपमान करने के इरादे से पूजा स्थल को चोटिल या परिभाषित करने के लिए और 295 A- जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कार्य, जिसका उद्देश्य किसी भी वर्ग की धार्मिक भावनाओं और आस्था को अपमानित करना है के तहत यह मामला दर्ज कर लिया गया है. बता दें कि तमिलनाडु के तंजावुर में स्थित बृहदेश्वर मंदिर प्राचीन भारत के सबसे बड़े मंदिरों में से एक है और इसे राजा चोल के शासन में 1003 और 1010 ईस्वी के बीच बनाया गया था. बृहदेश्वर मंदिर पूरी तरह से ग्रेनाइट नि‍र्मि‍त है. विश्व में यह अपनी तरह का पहला और एकमात्र मंदिर है जो कि ग्रेनाइट का बना हुआ है. यह अपनी भव्यता, वास्‍तुशिल्‍प और केन्द्रीय गुम्बद से लोगों को आकर्षित करता है. इस मंदिर को यूनेस्को ने विश्व धरोहर घोषित किया है.

 

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

Share This Post