अरुणाचल को बता दिया चीन का और कश्मीर को दिखा दिया पाकिस्तान में… ये ममता राज बंगाल है


पश्चिम बंगाल में शिक्षा बोर्ड की बड़ी गलती सामने आयी। बंगाल शिक्षा बोर्ड दवारा तैयार किए गए 10 वी कक्षा भूगोल के प्रश्नपत्र में कश्मीर को पाकिस्तान और अरुणाचल प्रदेश को चीन का हिस्सा दर्शाया गया। 10 वी कक्षा के परीक्षा में 2017 में भारत का गलत नक्शा बाटा गया और इस पर भाजपा ने आरोप लगाया है कि टीएमसी टीचर्स एसोसियेशन की ओर से जारी किए गए पेपर में कश्मीर को पाकिस्तान का जबकि अरुणाचल प्रदेश को चीन का हिस्सा दिखाया गया है।

बता दें कि इस गलत नक्शे से विवाद खड़ा हो गया है और भाजपा सरकार ने इस आरोप लगया कि “वेस्ट बंगाल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन की तरफ से यह पेपर तैयार किया गया है। भाजपा नेता राहुल सिन्हा ने इस मुद्दे पर टिप्पणी करते हुए कहा कि “क्या टीएमसी देश को बांटना चाहती है। यह सीमा पर कश्मीर और अरुणाचल की सुरक्षा के लिए तैनात सेनाओं का अपमान है। उन्होंने कहा कि टीएमसी को तुरंत इस त्रुटि के लिए माफी मांगनी चाहिए साथ ही शिक्षा मंत्री को पद से हटा देना चाहिए। “

इस प्रश्नपत्र को लेकर भाजपा सरकार के राज्य सचिव राजू बैनर्जी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी से सवाल पूछा कि क्या आप इस नक्शे से सहमत हैं? मानव एवं संसाधन विकास मंत्रालय ने इस मामले में कार्रवाई की मांग की है। हलाकि इस विषय में ममता सरकार का कोई बयान नहीं आया और बंगाल में पहले भी नक्शे के अलावा ओर भी कथित मामले समाने अाये है। बता दें कि कुछ समय से पहले ममता बनर्जी सरकार पर आरोप लगते रहे हैं कि वह मुस्लिमों को तुष्टीकरण करने वाले फैसले लेती हैं. पश्चिम बंगाल के सबसे बड़े त्योहार दुर्गा पूजा के मौके पर ममता बनर्जी ने मुहर्रम को देखते हुए मूर्ति विसर्जन का समय एक दिन आगे बढ़ा दिया था.

हालांकि कोर्ट के आदेश के बाद सरकार को इस फैसले से अपने कदम पीछे खींचने पड़े थे। 22 मार्च को पश्चिम बंगाल के लेक टाउन रामनवमी पूजा समिति’ ने पूजा की अनुमति के लिए आवेदन दिया था, लेकिन राज्य सरकार के दबाव में नगरपालिका ने पूजा की अनुमति नहीं दी. बाद में कोर्ट के दखल के बाद नगरपालिका को अपना फैसला बदलना पड़ा था।

बता दें कि भारत का गलत नक्शा दर्शाने वालों के खिलाफ सरकार कड़ी कार्रवाई की योजना बना रही है। सरकार ने इसके लिए एक ड्राफ्ट भी तैयार किया है। बताया जा रहा है कि ड्राफ्ट के अनुसार जो भी शख्स भारत का गलत नक्शा दिखाएगा उसे सात साल की जेल होगी और इसके साथ ही 100 करोड़ का जुर्माना भी लगेगा। इस कानून को जल्द ही संसद में पेश किए जाने की उम्मीद जताई जा रही है


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share