जैसे ही बजी “जय श्री राम” की रिंगटोन वैसे ही आया फरमान- ‘छोड़ दो गाँव’

शामली के कैराना जिले की तरह एक बार फिर अलीगढ़ का एक हिंदू परिवार पलायन करने को मजबूर हो गया। अलीगढ़ जिले में इस परिवार का क़सूर सिर्फ इतना था कि इसके एक मेंबर ने अपने मोबाइल में “जय श्री राम” की रिंग टोन लगाई है। 
दरअसल, मामला हरदुआगंज थाना क्षेत्र के जलाली कस्बा का है, यहां रहने वाले मनीष अग्रवाल का आरोप है कि 24 मार्च की रात में वह अपनी दुकान के बाहर खड़े थे। इसी दौरान उनके मोबाइल पर एक फोन आया और रिंगटोन “जय श्री राम” बजने लगी। 
रिंगटोन की आवाज सुनकर पास में स्थित दूसरे समुदाय के मेडिकल के मालिक अपने 6-7 साथि‍यों के साथ आ गए। फिर क्या था, गुस्साए दूसरे समुदाय के लोगों ने उसे जान से मारने की धमकी देते हुए रिंगटोन का विरोध किया और बोले कि ‘तू बहुत बड़ा भक्त बनता है, तेरे बाबा की हत्या हुई थी, अब तेरी हत्या कर दी जाएगी। तुझको जलाली में रहने नहीं दिया जाएगा।’ 
इनता ही नही किसी ने उसके घर के बाहर- ‘यह मकान बिकाऊ है’ भी लिख दिया। वहीं, पुलिस ने पीड़ित परिवार की रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस के अनुसार पीड़ित की तहरीर पर यासीन, भोलू समेत अन्य लोगों पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पुलिस ने बताया कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। 
Share This Post