समझौता ब्लास्ट केस के आरोपी असीमानंद 7 साल बाद जेल से बाहर निकलने को तैयार, मक्का मदीना ब्लास्ट मामले में जमानत मंजूर

हैदराबाद : समझौता ब्लास्ट केस में दिसंबर 2010 से जेल की सजा काट रहे स्वामी असीमानंद को कोर्ट से मक्का मस्जिद मामले में राहत मिली है। असीमानंद को हैदराबाद की अदालत ने बेल दे दी है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी को असीमानंद को मिली बेल की कॉपी शुक्रवार को मिलेगी, जिसके बाद ही ये फैसला किया जाएगा कि असीमानंद की बेल को चैलेंज किया जाना है या नहीं।

असीमानंद फिलहाल हैदराबाद की चंचलगुड़ा सेंट्रल जेल में बंद हैं। जानकारी के मुताबिक, असीमानंद को औपचारिकताएं पूरी करने के बाद दोपहर 2 बजे से 6 बजे के बीच कभी भी रिहा किया जा सकता है। एजेंसी ने 2007 के समझौता ट्रेन ब्लास्ट केस पर बेल का विरोध नहीं किया था। असीमानंद समझौता ट्रेन ब्लास्ट में आरोपी बनाए गए थे।

2014 में पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने असीमानंद को इस मामले में जमानत दे दी। असीमानंद को अब दोनों मामले के लिए 50-50 हजार रुपए जामनत की तौर पर जमा करने होंगे। वे समझौता ब्लास्ट केस के लिए बेल बॉन्ड भर चुके हैं। आपको बता दें कि असीमानंद को पिछले महीने ही जयपुर की अदालत ने अजमेर दरगाह ब्लास्ट मामले में लिए बरी किया है।


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share