Breaking News:

बंगाल के बर्दवान ब्लास्ट में था बांग्लादेशी हाथ.. वो बांग्लादेशी जिसकी पैरोकारी करता है एक ख़ास वर्ग

जिस कथित धर्मनिरपेक्षता तथा मानवाधिकार की आड़ में तमाम कथित बुद्धिजीवी बांग्लादेशी घुसपैठियों की पैरोकारी करते हैं, वो अब देश के लिए नासूर बनती जा रही है. बांग्लादेशी आक्रान्ता जानते हैं कि हिंदुस्तान में तमाम ऐसे कथित मानवाधिकारी, सेक्यूलर राजनेता तथा कथित बुद्धिजीवी जो सुरक्षा एजेंसियों के अलर्ट के बाद भी उनके समर्थन में तनकर खड़े हुए हैं. यही कारण है कि देश में मजहबी उन्मादी घुसपैठियों का संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है तथा हिन्दुस्तान को तबाह कर रहा है.

महबूबा के साथी ओढ़ रहे हैं भगवा.. भाजपा के साथ बढ़ गये वो जो महबूबा के साथ गाते थे पाकिस्तानी तराने

मामला पश्चिम बंगाल के बर्दवान ब्लास्ट से जुड़ा हुआ है, जिसमें बांग्लादेशी आतंकियों का सीधा कनेक्शन सामने आया था. अब इस आतंकी हमले से जुडी बड़ी खबर सामने आई है. खबर के मुताबिक़, बर्दवान ब्लास्ट केस में लिप्त एआईए ने असम के तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. इन तीनों ही आरोपियों को कोलकाता एनआईए ने गिरफ्तार किया है. इस मामले में कुल मिलाकर 19 लोगों को दोषी माना गया था तथा 30 लोगों को गिरफ्तार किया गया था. इनमें से चार बांग्लादेशी नागरिक थे. अब तीन और आतंकियों को पकड़ा गया है.

भारत में छुआछूत किस की देन है आख़िरकार बता ही दिया RSS के वरिष्ठ पदाधिकारी ने…दिए वो अकाट्य प्रमाण जिसको छिपा गये थे वामपंथी इतिहासकार

NIA द्वारा गिरफ्तार इन तीन लोगों में असम के बरपेटा जिले का रहने वाला सैकुल इस्लाम खान उर्फ सैफुल इस्लाम खान उर्फ अब्दुला, बरपेटा के ही छतला गावं का साहनुर आलम उर्फ शाहनूर आलम और बरपेटा के ही रामारीपठार निवासी सैदुल इस्लाम उर्फ शमीम शामिल है. इन लोगों भारतीय दंड सहिंता की कई धाराओं के अंतर्गत गिरफ्तार किया गया है.

चीन से 1962 का युद्ध लड़ने वाले सैनिकों की दिल्ली में ये दुर्दशा क्यों ? क्या दोष है उनके परिवारों का ?

इनके अलावा अन्य आरोपियों में गुलशन उर्फ रजिया बीबी, अलिमा उर्फ अमिना बीबी, अब्दुल हकीम उर्फ हसन, शैख उर्फ साजिद उर्फ शौरत अली, अमजद अली शेख उर्फ काजोल, मोहम्मद रेजोल, मोहम्मद रेजोल करीम उर्फ अनवर, हबीबुर्रहमान उर्फ नूर आलम, गयासुद्दीन मुंशी उर्फ गियास मास्टर, मोफज्जुल अली उर्फ मुफज्जत अली उर्फ लादेन, अब्दुल कलाम उर्फ आजाद उर्फ सुमन उर्फ तारिकुल इस्लाम उर्फ शादिक उर्फ सुमन उर्फ तारिकुल इस्लाम उर्फ रैहान शेख, लियाकत अली प्रमानिक उर्फ रफिक उर्फ रफिकुल उर्फ मुहम्मद रूबेल, लाल मोहम्मद उर्फ लल्तू उर्फ इब्राहिम शैफ उर्फ साहिब, अब्दुल वहाब मोमिन उर्फ अहाब अली, हबिबुर्रहमान उर्फ जाहिदुल इस्लाम उर्फ जबिरूल इस्लाम उर्फ जफर और नुरूल हक मंडल उर्फ नईम उर्फ बाबू शामिल है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–

Share This Post