बीकॉम कर रहे दानिश को सभी लोग मान रहे थे देश का भविष्य, लेकिन वो असल में निकला गद्दार.. निकल पड़ा जंग लड़ने भारत के ही खिलाफ

उसने हिंदुस्तान की पावन धरा पर जन्म लिया, वह हिंदुस्तान की माटी में पला बढ़ा. उसने हिंदुस्तान की हवा में सांस ली तथा हिंदुस्तान की सरकार ने उसे हर वो सुविधा दी जिससे वह आगे बढ़े, पढ़ाई करके न सिर्फ अपने परिवार का नाम रोशन करे बल्कि हिंदुस्तान को आगे बढ़ाने में सहयोग करे. लेकिन उसके दिमाग में कुछ और ही चल रहा था. संभवतः उसको जो तालीम मिली थी, उसमें उसको ये नहीं सिखाया गया था कि तुम्हें अपने देश के लिए काम करना है बल्कि ये सिखाया गया था कि पहले तो तुमको अपने देश के पैसे से आगे बढना है फिर उसी देश के खिलाफ हथियार उठाकर आतंकी संगठन में शामिल हो जाना है तथा उसी देश को लहूलुहान करना है.

खबर के मुताबिक़, श्रीनगर के सिविल लाइन इलाके का रहने वाला बीकॉम का एक छात्र आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा में शामिल हो गया है. हाथ में बंदूक लिए सोशल मीडिया पर उसकी फोटो वायरल हुई है. सूत्रों के अनुसार सोशल मीडिया पर एक युवक का हथियार लिए एक फोटो वायरल हुआ. यह फोटो श्रीनगर के नटीपोरा निवासी दानिश हनीफ (22) पुत्र मोहम्मद हनीफ का है. फोटो में एक हाथ में एके 47 और दूसरे हाथ में कुरान ले रखी है. फोटो पर दी गई जानकारी के अनुसार वह 8 जनवरी 2019 को आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा में शामिल हुआ है और उसका कोड अबू दुजाना है.

पारिवारिक सूत्रों के अनुसार दानिश अपने घर से 30 दिसंबर 2018 को पास की मस्जिद में नमाज पढ़ने गया था लेकिन उसके बाद से वापस नहीं लौटा. परिवार ने सदर थाने में रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी और आज उसकी फोटो वायरल होने के बाद उन्हें यह पता चला कि वो आतंकी सन्गठन में शामिल हो गया है. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि वह इसकी जांच कर रहे हैं.

Share This Post