पूरे भारत में टिकट दलालों के विरुद्ध रेलवे सुरक्षा बलों की बड़ी कार्यवाई.. ऑपरेशन थंडर के तहत ध्वस्त की गई टिकटों की कालाबाजारी

रेलवे की टिकटों की कालाबाजरी कर अवैध रूप से काली कमाई कर्मे वालों के खिलाफ रेलवे ने देशव्यापी अभियान छेड़ दिया है. खबर के मुताबिक़, 13 जून को रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स RPF ने रेलवे की टिकटों की कालाबाजारी करने वाले टिकट दलालों के खिलाफ पूरे देश भर में एक साथ धरपकड़ की है. रेलवे ने इस अभियान को ऑपरेशन थंडर नाम दिया है. 13 जून को चलाए गये ऑपरेशन थंडर के तहत 387 टिकट दलाल गिरफ्तार किये गये हैं.

वो बदनाम कर रहे भारत को संसार भर में.. NIA की गिरफ्त में श्रीलंका ब्लास्ट के आतंकी का साथी

RPF के डीजी अरुण कुमार ने बताया कि पिछले कुछ समय से रेल टिकट आरक्षण प्रणाली में दलालों की घुसपैठ की सूचनाएं प्राप्त हो रही थीं. कुछ मामलों में कुछ अराजक तत्वों की गिरफ्तारी के बाद इसे गंभीरता से लेते हुए देश भर में इसके विरुद्ध कार्रवाई का निर्णय लिया गया. RPF के डीजी अरुणा कुमार ने बताया कि इसके बाद 13 जून को देश भर के 141 नगरों में 276 स्थानों पर छापे मारे गए. इस कार्रवाई में कुल 375 मामलों के तहत 387 दलालों को गिरफ्तार किया गया है.

संसार के सबसे ताकतवर देश रूस के सबसे प्रतिष्ठित कार्यक्रम ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम में मुख्य अतिथि होंगे पीएम नरेंद्र मोदी

रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स RPF के DG अरुण कुमार ने सुदर्शन संवाददाता गौरव मिश्रा से कहा रेलवे के टिकटों की कालाबाजरी करने वालों को किसी भी हालात में बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने सुदर्शन संवाददाता गौरव मिश्रा से कहा कि अब उन दुकानदारों पर भी नकेल कसी जायेगी जो रेलवे के टिकटों की कालाबाजारी कर रहे हैं. ऐसे लोगों के लाइसेंस रद्द किये जायेंगे.

आज ही हुआ था छत्रपति शिवाजी महाराज का राज्याभिषेक.. संपूर्ण विश्व ब्रह्माण्ड के समस्त हिन्दुओ को “हिन्दू साम्राज्य दिवस” की शुभकामनाएं

आरपीएफ के महानिदेशक अरुण कुमार ने यहां संवाददाता से कहा कि रेलवे के लिए यह काफी व्यस्त समय है. उत्तर भारत में शादियों का मौसम रहने के चलते यात्रियों की संख्या अधिक है. हमें पता चला है कि असामाजिक तत्व हमारी सुविधाओं का दुरुपयोग कर रहे हैं और कहीं अधिक कीमत पर टिकटें बेच रहे हैं. उन्होंने बताया कि आरपीएफ ने 36,91,580 रुपये के 22,253 टिकट जब्त किये हैं. इन टिकटों पर यात्रा की जानी थी.

इस्लामिक बैंक का नाम सुनते ही जमा सुनते ही जमा हो गये थे अरबों रूपये.. लेकिन उन्हें पता नहीं था कि आगे क्या होने वाला है

अरुण कुमार ने बताया कि शुरुआती जांच में यह पता चला कि इन दलालों ने पहले भी टिकटों की इस तरह की अवैध बिक्री कर 3,79,02,803 रूपये का कारोबार किया है. उन्होंने बताया कि कोलकाता से 51 दलाल गिरफ्तार किये गये. वहीं, छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में इस तरह के 41 मामले मिले. कुमार ने बताया कि राजस्थान के कोटा से ‘एएनएमएस/रेड मिर्ची’ नाम का एक अवैध सॉफ्टवेयर जब्त किया किया गया. इसका इस्तेमाल आईआरसीटीसी की तत्काल टिकट बुकिंग प्रणाली को हैक करने में किया जाता था.

मुफ्त में मेट्रो पर श्रीधरन का आया जवाब… मोदी को पत्र लिखकर बताया इसका परिणाम

अरुण कुमार ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि ये टिकटें जिन 387 यूजर आईडी से बुक की गयी थीं, उन्हें काली सूची में डाल दिया गया है और टिकटों को अमान्य कर दिया है. ये टिकट जिन पचास हजार से अधिक यात्रियों के लिए जारी किए गए थे, उन्हें अब वैध तरीके से पुन: टिकट लेने होंगे. सबसे ज्यादा 51 मामले कोलकाता में दर्ज हुए हैं. जबकि दूसरे नंबर पर बिलासपुर रहा जहां 41 केस दर्ज किए गए हैं. इसी प्रकार गोरखपुर में 32, इलाहाबाद में 25, दिल्ली-एनसीआर में 30 जबकि पटना में 17 मामले दर्ज किए गए हैं.

“आएगा तो मोदी ही” सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि अमेरिका जैसे देशों में भी गूँज रहा था.. जानिये क्या कहा अमेरिकी विदेश मंत्री ने

पत्रकारों से बातचीत करते हुए अरुण कुमार ने बताया है कि पूरे देश में आईटी सेल की मदद से ऐसे सभी संदिग्धों की पहचान करते हुए उनकी गतिविधियों की सभी खुफिया जानकारी एकत्र की गई और इनके विरुद्ध एक साथ 13 जून को जगह-जगह छापेमारी की गई. उन्होंने कहा कि हमने इन दलालों पर दबाव बढ़ाने के लिए इस तरह की छापेमारी जारी रखने का भी निर्देश दिया है. उन्होंने कहा कि मैं आम लोगों से दलालों के जरिये अवैध तरीके से टिकटों की बुकिंग नहीं कराने की अपील करता हूं.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW